×

भारत में #BirdFlu की दहशत : #Haryana में एक लाख मुर्गियों की मौत से हड़कंप, केरल में राजकीय आपदा घोषित

पशुपालन विभाग ने प्रभावित फार्मों से 80 सैंपल इकट्ठे कर जांच के लिए जालंधर भेजे

भारत में #BirdFlu की दहशत : #Haryana में एक लाख मुर्गियों की मौत से हड़कंप, केरल में राजकीय आपदा घोषित

- Advertisement -

गुरुग्राम। कोरोना वैक्सीन के आने के बाद एक तरफ तो लोगों ने राहत की सांस ली हैं वहीं दूसरी तरफ बर्ड फ्लू ने फिर सभी को परेशान कर दिया है। देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) फैल गया है। राजस्थान, मध्य प्रदेश के बाद हिमाचल, हरियाणा और केरल तक बर्ड फ्लू ने दहशत मचाकर रख दी है। राज्य सरकारों ने इसे लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। केरल ने तो इसे राजकीय आपदा घोषित कर दिया है। वहीं, हरियाणा (Haryana) के बरवाला क्षेत्र में रहस्यमयी तरीके से मर रहीं मुर्गियों की वजह से हड़कंप मच गया है। यहां करीब एक लाख मुर्गी और चूजों की मौत हो चुकी है। मुर्गियों के रहस्यमय तरीके से मरने का सिलसिला 5 दिसंबर से शुरू हुआ था। बरवाला क्षेत्र के 110 मुर्गी फार्मों में से लगभग दो दर्जन फार्मों (Farms) में मुर्गियों की रहस्यमय तरीके से मौत हो चुकी है। मुर्गियों की मौत के बाद अब पंचकूला जिला प्रशासन हरकत में आया है। राज्य के पशुपालन विभाग ने प्रभावित फार्मों में पाई गई मृत मुर्गियां के 80 सैंपल इकट्ठे करके जांच के लिए जालंधर की रीजनल डिजीज डायग्नोस्टिक लैबोरेट्री में भेजे गए हैं।


यह भी पढ़ें: पौंग झील में विदेशी परिंदों की #bird_flu से हुई है मौत, Bhopal से आई रिपोर्ट में हुई पुष्टि

देश के अलग-अलग राज्यों की बात की जाए तो हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा के पॉन्ग डैम की झील में हजारों की संख्या में मारे गए प्रवासी पक्षियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन पक्षियों की मौत की वजह बर्ड फ्लू ही पाई गई है। मारे गए प्रवासी पक्षियों के सैंपल भोपाल की लैब में भेजे गए थे, जिनकी रिपोर्ट में H5N1 (बर्ड फ्लू) की पुष्टि हुई है। बर्ड फ्लू का पता लगने पर प्रशासन ने डैम के नजदीक मांस व अंडा बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

वहीं, गुजरात के जूनागढ़ में भी बर्ड फ्लू का खतरा मंडराता दिखाई दे रहा है। यहां मानावदर तहसील के बाटवा के नजदीक एक साथ 53 पक्षी मृत हालत में मिलने से हड़कंप मच गया है। पक्षियों के मृत हालत में पाए जाने की जानकारी जैसे ही वन विभाग को दी गई वन विभाग की टीम भी घटनास्थल पर पहुंची और इतनी बड़ी तादाद में पक्षियों के मृत हालत में पाए जाने को लेकर सभी पक्षियों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वन विभाग को यह आशंका है कि इन पक्षियों की मौत बर्ड फ्लू की वजह से हो सकती है।

यह भी पढ़ें: कांगड़ाः #Bird_Flu को लेकर अलर्ट, इन चार उपमंडलों में नहीं बिकेगा चिकन, अंडा और मछली- आदेश जारी

राजस्थान के भी कई जिलों में बर्ड फ्लू के केस मिले हैं। झालावाड़ में सबसे पहले बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी। यहां एक साथ सैकड़ों की संख्या में कौओं की मौत हो गई थी। जिसके बाद अब कोटा, पाली, जयपुर, बारां और जोधपुर में भी तेजी से कौओं की मौत की खबर आ रही है।

उत्तर और मध्य भारत के राज्यों में जहां बर्ड फ्लू बढ़ रहा है वहीं दक्षिण में ये फ्लू दस्तक दे चुका है। केरल (Kerala) के अलाप्पुझा और कोट्टायम जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। बर्ड फ्लू के केस आने पर प्रशासन अलर्ट हो गया है, कंट्रोल रूम बनाए गए हैं और दोनों ही जिलों में QRT क्विक रिएक्शन टीमों की तैनाती कर दी गई है। बता दें कि दिसंबर के आखिरी सप्ताह में दोनों जिले में कई बत्तख मृत पाई गई थीं। भोपाल की लैब में 8 सैंपल भेजे गए थे जिनमें से 5 में फ्लू पाया गया। अब तक करीब 1700 बत्तखों की मौत हो चुकी है।

झारखंड में भी एहतियातन कदम उठाते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया है। लोगों से अपील की गई कि किसी भी पक्षी की मौत अस्वाभाविक तरीके से होती है तो इसकी सूचना तुरंत पशुपालन विभाग को दी जाए। इसके साथ ही पक्षी के विसरे की जांच के लिए लैब भेज दिया जाए। कुल मिलकर कई उत्तर से मध्य और दक्षिण भारत तक कई राज्यों में बर्ड फ्लू पैर पसार चुका है। इन राज्यों में प्रशासन अलर्ट पर है। इनके साथ-साथ दूसरे राज्य भी एहतियात बरत रहे हैं ताकि इस बीमारी से परेशानी और ना बढ़ जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है