Covid-19 Update

2,26,859
मामले (हिमाचल)
2,22,190
मरीज ठीक हुए
3,825
मौत
34,555,431
मामले (भारत)
260,661,944
मामले (दुनिया)

हिमाचल: इस अस्पताल में मरीज का सही से नहीं हो रहा इलाज, तो कर सकेंगे शिकायत

आईजीएमसी में सक्योरिटी गॉर्ड के पास रहेगी शिकायत पुस्तिका, प्रशासन लेगा एक्शन

हिमाचल: इस अस्पताल में मरीज का सही से नहीं हो रहा इलाज, तो कर सकेंगे शिकायत

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के अस्पतालों में अकसर मरीज (Patient) के साथ आए लोग चिकित्सकों के सही व्यवहार या इलाज सही से ना होने की शिकायत करते रहते हैं। इसमें कई बार डाक्टरों और तीमारदारों के बीच नोकझोंक भी हो जाती है और मामले पुलिस के पास पहुंच जाते हैं। लोगों की इसी शिकायत (Complaint) के निवारण के लिए हिमाचल के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी ने नई पहल शुरू की है। आईजीएमसी प्रशासन ने एक शिकायत पुस्तिका शुरू की है। यह शिकायत पुस्तिका सिक्योरिटी गॉर्ड के पास रहेगी। जिसमें कोई भी व्यक्ति इलाज (Treatment) से संबंधित कोई भी शिकायत उसमें दर्ज करवा सकेगा।

यह भी पढ़ें: खाट पर सोने से पीठ और कमर का दर्द हो जाएगा छू मंतर, ये रही वजह

प्रबंधन ने सुरक्षा कर्मियों को शिकायत पुस्तिका उपलब्ध करवा दी है। शिकायत के लिए मरीज पहले सिक्योरिटी गार्ड के पास जाएगा और शिकायत पुस्तिका में अपनी शिकायत दर्ज करवाएगा। इस दौरान मरीज को अपना मोबाइल नंबर भी देना होगा। प्रशासन शिकायत पुस्तिका (Registered Complaint Book) में दर्ज शिकायत पर उचित कार्रवाई करेगा और जल्द से जल्द उसका निवारण किया जाएगा। शिकायत दर्ज होने के बाद आईजीएमसी के प्राचार्य और एमएस इसका निपटारा करेंगे। यह शिकायत सिक्योरिटी गार्ड प्रबंधन तक पहुंचाएगा।  इससे पहले मरीजों को शिकायत करने के लिए भटकना पड़ता था। कई बार मरीज की शिकायत प्रबंधन तक पहुंचती ही नहीं थी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल उपचुनाव: लोगों ने BJP कार्यकर्ताओं को गांव में घुसने से रोका, लगा दी क्लास

यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिक्षक ने दी है। उन्होंने लोगों से अस्पताल स्टॉफ के साथ सौहार्द पूर्ण व्यवहार बनाने का आग्रह किया है। ताकि अस्पताल में मरीज के लिए जरूरी सहानुभूति पूर्ण वातावरण बनाया जा सके। बता दें कि आईजीएमसी में रोजाना 25 सौ से अधिक की ओपीडी होती है। ओपीडी में भारी भीड़ के कारण और कई मर्तबा डॉक्टर तथा मरीजों की आपस में बहस तक हो जाती है। ऐसी स्थिति वार्डों में भी आती है। ऐसे में दोनों पक्षों की बात को लेकर ठोस सुबूत न होने के कारण मामले पर कार्रवाई नहीं हो पाती है। लेकिन अब प्रबंधन ने मरीजों को शिकायत पुस्तिका संबंधी सुविधा शुरू की है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है