Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

घर में कपूर इस्तेमाल करने के क्या हैं फायदे, पढ़ें पूरी खबर

राहु-केतु के दोष को भी खत्म करता है कपूर

घर में कपूर इस्तेमाल करने के क्या हैं फायदे, पढ़ें पूरी खबर

- Advertisement -

हिंदू धर्म में पूजा पाठ के लिए कई तरह की चीजें इस्तेमाल की जाती है। पूजा-पाठ के सामान में कपूर को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। बिना कपूर के पूजा व धार्मिक कार्यों को अधूरा माना जाता है। पूजा के अंत में भगवान की आरती कपूर से की जाती है। मान्यता है कि ऐसा करने से घर-आंगन में सुख-समृद्धि व शांति बनी रहती है। वहीं, स्वास्थ्य के लिहाज से भी कपूर को फायदेमंद माना जाता है।

यह भी पढ़ें:अपने घर के आंगन में जरूर लगाएं ये पौधे, वास्तु के अनुसार सुख- समृद्धि बढ़ेगी

कहा जाता है कि कपूर का उपयोग करने से घर से वास्तु दोष दूर होता है और घर में धन व संपन्नता के द्वार भी खुलते हैं। ज्योतिष और वास्तु शास्त्र के उपाय के लिए भी कपूर का इस्तेमाल किया जाता है। घर से वास्तु दोष को भगाने के लिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर घर के किसी भाग में वास्तु दोष है और घर पर तोड़-फोड़ या निर्माण नहीं करा पा रहे हैं तो घर के उस भाग में रोज कपूर की दो टिकिया जलानी चाहिए। कई बार आपसी तालमेल अच्छा होने के बावजूद कई घर में आपसी कलह क्लेश का माहौल बना रहता है। ऐसी स्थिति में कपूर को देसी घी में डुबोकर रोजाना जलाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। इसके अलावा सोया हुआ भाग्य जगाने के लिए भी कपूर का इस्तेमाल किया जा सकता है। कहा जाता है कि रोज नहाते समय पानी में कपूर का तेल या थोड़ा सा कपूर चूर करके मिला लेने से दिन भर तरोताजा महसूस होता है और सौभाग्य का दरवाजा भी खुल जाता है। वहीं, नेगेटिविटी दूर करने के लिए भी शाम के समय कपूर व लौंग की कलियों को जला कर सोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रात को रसोई घर में सफाई करने के बाद चांदी की कटोरी में कपूर और लौंग जलाना चाहिए। ऐसा करने से घर में धन-धान्य की कोई कमी नहीं होती है। इसके अलावा अगर किसी की कुण्डली में राहु-केतु का दोष हो तो उसे भी रोज शाम को कपूर जलाकर भगवान हनुमान की आरती करनी चाहिए, ऐसा करने से राहु-केतु को दोष खत्म हो जाता है। वैज्ञानिक के अनुसार जलते हुए कपूर की सुगंध से किसी भी बीमारी के फैलने का खतरा कम रहता है।

बता दें कि कपूर मोम की तरह दिखने वाला एक उड़नशील वानस्पतिक द्रव्य होता है। कपूर की सुगंध बहुत अच्छी होती है। कपूर से एक अलग तरह की खुशबू आती है जो कि वातावरण में फैल जाती है। कहा जाता है कि इसकी गंध से मन और दिमाग दोनों मस्तिष्क को शांति मिलती है। धार्मिक मान्यता है कि रात के सोने से पहले किसी पीतल के बर्तन में गाय के दूध से बने घी में कपूर डुबोकर जलाना चाहिए, ऐसा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है