Covid-19 Update

1,32,763
मामले (हिमाचल)
99,188
मरीज ठीक हुए
1906
मौत
22,662,575
मामले (भारत)
159,067,118
मामले (दुनिया)
×

हरियाणा के अस्पताल में कोरोना वैक्सीन की चोरी, रातोंरात 1,710 डोज ले उड़े अज्ञात, नकदी को नहीं लगाया हाथ

1,270 कोविशील्ड और 440 कोवैक्सीन हुई हैं गायब, जांच में जुटी पुलिस

हरियाणा के अस्पताल में कोरोना वैक्सीन की चोरी, रातोंरात 1,710 डोज ले उड़े अज्ञात, नकदी को नहीं लगाया हाथ

- Advertisement -

नई दिल्ली। देशभर से कोरोना के मामले बढ़ने के साथ इस समय हर तरफ से बुरी खबरें आ रही हैं। कहीं पर ऑक्सीजन की कमी तो कहीं पर वैक्सीन की। इसी बीच हरियाणा के जींद (Jind, Haryana) में एक अस्पताल से कोरोना वैक्सीन की चोरी का मामला सामने आया है। यहां पर सामान्य अस्पताल के स्टोर से कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की 1,710 डोज चोरी हुई है जिसमें 1,270 कोविशील्ड और 440 कोवैक्सीन शामिल हैं। वैक्सीन चोरी होने का पता गुरुवार यानी आज सुबह करीब नौ बजे चला, जब स्वास्थ्य निरीक्षक राममेहर वर्मा कार्यालय पहुंचे। उन्होंने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी और अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


यह भी पढ़ें: भारत ने कोरोना में तोड़ा दुनिया का रिकॉर्ड, 3.15 लाख नए केस, Rahul ने सरकार की नीतियों को कोसा

सुबह नौ बजे जब स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के कर्मचारी कार्यालय पहुंचे तो पीपी सेंटर का ताला टूटा हुआ मिला। इसके बाद स्टोर का भी ताला टूटा मिला और यहां रखे डीप-फ्रीज से कोरोना वैक्सीन गायब मिली। इसके अलावा अलमारी से दो फाइल भी चोरी हुई हैं। हालांकि वहीं पर 50 हजार रुपए भी रखे थे, लेकिन उनको किसी ने हाथ नहीं लगाया हैं। घटना की सूचना मिलते ही टीकाकरण के प्रभारी व डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. रमेश पांचाल मौके पर पहुंचे और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद डीआईजी ओपी नरवाल मौके पर पहुंचे। इनके साथ फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम भी पहुंची और कार्यालय के कुंडों से निशान जुटाए। अब इसके आधार पर आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। अस्पताल में जगह-जगह लगे सीसीटीवी की भी जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: कोरोना की बंदिशों के बीच बढ़ी जमाखोरी, खाद्य तेल व जरूरी वस्तुएं 20 फीसदी महंगी

अब तक हुई सीसीटीवी (CCTV) की जांच में दो लोग अस्पताल के नए भवन के पास से ग्रिल कूद कर अस्पताल में आते दिख रहे हैं जिनके पास बैग भी है। हालांकि यह लोग पीपी सेंटर तक पहुंचे या नहीं इसका पता नहीं लग पाया है। दरअसल, अस्पताल में कोविड वार्ड भी बनाया गया है। ऐसे में यहां रात-दिन स्टाफ रहता है। इसके अलावा अस्पताल में सुरक्षाकर्मी भी तैनात रहते हैं, लेकिन पीपी सेंटर के बाहर कोई भी सुरक्षाकर्मी को तैनात नहीं किया गया है। ऐसे में अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठ रहे हैं।

दिल्ली में सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन

उधर, राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां पर इस वक्त सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन (Oxygen) का है। दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन या तो खत्म होने की कगार पर है। कहीं पर कुछ ही घंटों का स्टॉक बचा है। हालात ऐसे हो गए हैं कि मैक्स अस्पताल को ऑक्सीजन सप्लाई की मांग करने के लिए हाईकोर्ट का रुख करना पड़ा, जिसके बाद अदालत ने केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए ऑक्सीजन सप्लाई के निर्देश दिए हैं। दिल्ली के माता चानन देवी अस्पताल में गुरुवार सुबह ऑक्सीजन खत्म हो गया था। यहां करीब 200 से अधिक मरीज ऐसे हैं, जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत है। अस्पताल की ओर से लगातार ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी के साथ संपर्क साधा जा रहा है। दिल्ली के अलावा और भी जगह इसी तरह के हालात बने हुए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है