Covid-19 Update

58,800
मामले (हिमाचल)
57,367
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,137,922
मामले (भारत)
115,172,098
मामले (दुनिया)

Kangra के मंदिरों में अब हो पाएंगे हवन व यज्ञ, #SOP का पालन करना होगा जरूरी

पुजारी वर्ग की ओर से हवन-यज्ञ करने की अनुमति के लिए किया जा रहा था आग्रह

Kangra के मंदिरों में अब हो पाएंगे हवन व यज्ञ, #SOP का पालन करना होगा जरूरी

- Advertisement -

कांगड़ा। जिला प्रशासन की ओर से कांगड़ा (Kangra) जिला के शक्तिपीठ मां ज्वालामुखी, मां बज्रेश्वरी, चामुंडा मंदिर, बैजनाथ मंदिर, महाकाल मंदिर, भागसू नाग मंदिर सहित प्रमुख प्रसिद्ध मंदिरों में श्रद्धालुओं को हवन व यज्ञ (Havan and Yagna) करने की अनुमति प्रदान कर दी है। हालांकि इस दौरान प्रशासन की ओर से जारी एसओपी (SOP) का पालना करना होगा, ऐसे में हवन-यज्ञ के दौरान ज्यादा लोग एकत्रित नहीं हो सकेंगे। शक्तिपीठों के गर्भ गृह में श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया गया है।

यह भी पढ़ें: इस #Dhanteras बस 5 रुपए से बदल सकते हैं अपनी किस्मत; यहां जानें क्या है उपाय

सात माह के बाद श्रद्धालुओं को हवन यज्ञ करने का मौका दिया गया है। बता दें कि पुजारियों ने मंदिरों में हवन यज्ञ शुरू करवाने के लिए आग्रह किया था। इसके बाद जिला प्रशासन ने शक्तिपीठों में हवन यज्ञ व अनुष्ठान की इजाजत दे दी है। कोरोना (Corona) के चलते मार्च माह के अंत में मंदिरों को बंद किया गया था और हवन-यज्ञ की भी मनाही की गई थी। हालांकि सरकार ने एसओपी जारी करके पहले मंदिरों (Temple) को खोलने की अनुमति प्रदान की और अब हवन-यज्ञ के लिए भी नियमों के तहत अनुमति प्रदान कर दी गई है।

 

यह भी पढ़ें: #Diwali_special:मां लक्ष्मी व गणेश की इस तरह करेंगे पूजा तो धन धान्य से भर जाएगा घर

इस संबंध में जिला प्रशासन (District Administration) की ओर से बाकायदा शक्तिपीठ मां ज्वालामुखी, मां बज्रेश्वरी, चामुंडा मंदिर, बैजनाथ मंदिर, महाकाल मंदिर, भागसू नाग मंदिर अधिकारियों को पत्र जारी किया गया है। डीसी कांगड़ा (DC Kangra) राकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि पुजारी वर्ग की ओर से लगातार मंदिरों में हवन-यज्ञ करने की अनुमति के लिए आग्रह किया जा रहा था। इस पर जिला के समस्त मंदिरों में हवन-यज्ञ की अनुमति प्रदान कर दी गई है। मंदिर अधिकारियों को प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों तथा सुरक्षा मापदंडों की अनुपालना सुनिश्चित करने को कहा गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

f

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है