Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

भारत में पाए जाते हैं दैवीय पौधे, एक रात को चमकता, तो दूसरा चलता है

भारत में पाए जाते हैं दैवीय पौधे, एक रात को चमकता, तो दूसरा चलता है

- Advertisement -

धरती (Earth) पर कई ऐसे पेड़ और पौधे हैं, जिन्हें दैवीय और चमत्कारिक माना जाता है। कई ऐसे पेड़ (Tree) और पौधे हैं जो रोते हैं, खाने मांगते हैं और अपने से चलकर दूसरे स्थान पर पहुंच जाते हैं। ऐसे काम तो चमत्कारिक पौधे ही कर सकते हैं, क्योंकि कोई साधारण पौधा (Plants) यह काम नहीं कर सकता है। दुनियाभर में करीब पेड़ और पौधों की 4 लाख प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ पौधे बिल्कुल अलग हैं। आईए जानते हैं ऐसे ही चमत्कारी पेड़ पौधें के बारे में….

यह भी पढ़ें:50 किलो वजन रखने पर भी नहीं टूटतीं इस पौधे की पत्तियां, यहां जानिए इसकी सबसे बड़ी वजह

 

पौधे से निकलता है पानी

भारत (India) के अंडमान निकोबार में एक अनोखा पौधा पाया जाता है, जिसका नाम केलेमस अंडमानिक्स (Calamus Andamanix) है। इस पौधे के जड़ से पानी निकलता है जो पीने लायक होता है। यहां पर रहने वाले आदिवासियों को जब पानी नहीं मिलता है, तो वे इस पौधे से निकलने वाले पानी से अपनी प्यास बुझाते हैं। तो वहीं अफ्रीका (Africa) में पाए जाने वाले बाओब के पेड़ की ऊंचाई करीब 80 मीटर होती है और उम्र हजारों साल होती है। इस पेड़ का आकार बोतल की तरह होता है। इस पेड़ में बड़ी मात्रा में पानी जमा होता है

पौधे से निकलती है रोशनी

धरती पर कई ऐसे पौधे हैं, जिनसे अंधेरे में रोशनी निकलती है, तो वहीं कई ऐसे पौधे हैं जिनके तने से रिसने वाला पानी रात के अंधेरे में चमकता है। मशरूम (Mushrooms) की कुछ ऐसी प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनसे कई रंग की रोशनी निकलती है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इनमें एंजाइम और ऑक्सीजन (Oxygen) के केमिकल रिएक्शन करते हैं जिसकी वजह से इनमें से रंग-बिरंगे प्रकाश निकलते हैं।

 

शर्माने वाले पौधे

अभी तक आपने तो सुना होगा कि इंसान या जानवर शर्माते (shy away) हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि पौधे भी शर्माते हैं। जी हां पौधे भी शर्माते हैं। इस शर्मीले पौधे का नाम लाजवंती है। यह पौधा इंसान के छूने से शर्माता है और अपनी पत्तियों को सिकोड़ लेता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, इन पौधों की पत्तियों में एक खास तरह का तरल पदार्थ भरा होता है। यह किसी के संपर्क में आने से हट जाता है, जिसकी वजह से पत्तियां तुरंत मुरझा जाती हैं।

रोते हैं और खाना मांगते हैं पौधे

धरती पर भूमध्य सागर (Mediterranean Sea) के इलाके में एक मेंड्रेक नाम का पौधा पाया जाता है। इस पौधे की बनावट इंसानों से मिलती है। इन पौधों को अगर काटा जाता है तो ये रोते हैं। वैज्ञानिक बताते हैं जब इन पौधों को पानी या किसी अन्य चीज की आवश्यकता होती है, तो ये आवाज देते हैं, लेकिन यह अल्ट्रासोनिक वेव्स (Ultrasonic Waves) होती हैं और इसकी पिच अधिक होती है, जिसकी वजह से इंसान इसे सुन नहीं सकते।

चलने वाले पौधे

इस धरती पर ऐसे भी पेड़ पाए जाते हैं, जो चलते फिरते हैं। यह पौधे खारे पानी या दलदली क्षेत्र में उगते हैं। इन विशाल पेड़ का नाम मैनग्रोव है जो धीरे-धीरे चलकर हजारों किलोमीटर दूर तक चले जाते हैं। इनके पैर नहीं होते, लेकिन यह फैलाव की वजह से कई किमी को कवर कर लेते हैं। यह पौधे भारत के सुंदरवन ( Sundarbans) में मिलते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है