×

खुद को जंजीरों से जकड़कर खेतों में काम रहे #किसान, आखिर क्या है माजरा

पंजाब के तरनतारन जिले में नए तरीके से विरोध जता रहे किसान

खुद को जंजीरों से जकड़कर खेतों में काम रहे #किसान, आखिर क्या है माजरा

- Advertisement -

तरनतारन। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। हरियाणा और पंजाब के किसान अब अपना गुस्सा अलग-अलग तरीके से व्यक्त करने लगे हैं। बीजेपी नेताओं के काफिले के आगे प्रदर्शन हो या नेताओं के लिए तैयार हैलीपैड खोदना किसानों को सरकार का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए अब इस तरह के हथकंडे अपनाने पड़ रहे हैं। पंजाब (Punjab) के तरनतारन जिले के एक गांव में आजकल किसान गले में जंजीरें डाल कर खेतों में काम कर केन्द्र सरकार (Central government) के विरुद्ध रोष प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि जब तक काले कानून वापस नहीं लिए जाते, तब तक वह इसी तरह गले में जंजीरें डालकर काम करते रहेंगे।


यह भी पढ़ें: #किसान_दिवस पर अन्नदाताओं ने सरकार से मांगा Gift, बोले – कृषि कानूनों को वापस लें

इन किसानों का कहना है कि पहले वो अंग्रेजों के गुलाम थे और अंग्रेज इसी तरह लोगों को जंजीरों में जकड़ कर उनसे जबरन काम करवाते थे और यही काम देश के पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) करवाना चाहते हैं। जब किसानों से पूछा गया कि आप जंजीरों में जकड़ कर खेतों में क्यूं काम कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि वह अपने देश के नौजवानों को ये बताना चाहते हैं कि इसी तरह ही अंग्रेजों के समय उनके बड़े बुजुर्गों के साथ हुआ। फिर एक लहर बनी और पंजाब के लोगों ने उस लहर का हिस्सा बनकर अंग्रेजों को देश से भगाने में कामयाबी हासिल की थी।

किसानों का कहना है कि उनके बाद अगर आप पर कभी भी मुसीबत आए तो उसका इसी तरह डटकर विरोध करो। जंजीरों में जकड़ कर किसानों के साथ उनके बच्चे भी इसी तरह ही खेतों में काम करते दिखाई दिए। उनका कहना है कि जब तक देश के पीएम मोदी काले कानून वापस नहीं लेते, तब तक वह इसी तरह गले में जंजीरें डालकर खेतों में काम करके उनका विरोध जताते रहेंगे।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है