Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

Budget session समाप्ति के साथ हिमाचल विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

बजट सत्र के दौरान हुई 16 बैठकें, राज्यपाल के अभिभाषण पर तीन दिन चर्चा

Budget session समाप्ति के साथ हिमाचल विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhan Sabha) का बजट सत्र आज समाप्त हो गया है। विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार (Vidhan Sabha Speaker Vipin Parmar) ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा सदन की कार्यवाही समाप्ति के साथ अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी। विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने बताया कि बजट सत्र के दौरान कुल 16 बैठकें आयोजित की गईं, जिसमें कई महत्वपूर्ण विषयों को लेकर चर्चा हुई और दोनों पक्ष ने सदन को चलाने में पूरा सहयोग दिया है। सदन की कार्यवाही 55 घंटे 32 मिनट चली। 26 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण से सत्र की शुरूआत हुई थी। राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर 3 दिन चर्चा हुईं, जिसमें 19 सदस्यों ने भाग लिया और 5 घंटे 27 मिनट चर्चा हुई। साथ ही एक घंटे 13 मिनट चर्चा का उत्तर दिया गया। 34 सदस्यों ने बजट में चर्चा में भाग लिया और 3 दिन 10 घंटे 33 मिनट चर्चा हुई, जिसका जवाब सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने एक घंटे 10 मिनट तक दिया।सत्र के दौरान 518 तारांकित और 230 अतारांकित प्रश्नों का उत्तर सरकार द्वारा दिया गया। गैर सरकारी सदस्य में चार संकल्प पर चर्चा हुई। पांच सरकारी विधेयक की पुनर्स्थापना और पारित किए गए।

यह भी पढ़ें: विपक्ष के विरोध के बीच लोकतंत्र प्रहरी सम्मान विधेयक 2021 विधानसभा में पारित

सीएम जयराम ठाकुर ने सदन को सकारात्मकता से चलाने के लिए सभी विधानसभा सदस्यों का आभार जताया।
सीएम ने कहा कि सदन के सबसे वरिष्ठम नेता पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने जिस तरह से सदन में आकर हम सब का हौसला अफजाई की है, वह सभी के लिये अनुकरणीय है। सीएम ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Former CM Virbhadra Singh) का विशेष आभार जताया। उन्होंने कहा कि हम सबको इस मुश्किल वक्त में कोरोना (Corona) महामारी और संक्रमण से बचाव के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। इसके लिए सभी सदस्यों को अपने-अपने तरीके से योगदान देना है और जनप्रतिनिधियों के नाते हम सब को नियमों का सख्ती से पालन और उन्हें लागू करने के सहयोग की अपील की है। सीएम ने कहा कि आज डीसी/एसपी (DC/SP) के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग होनी है, उनके फीडबैक पर कुछ और कड़े कदम उठाने की तरफ विचार किया जा सकता है, उसके लिए भी हम सब को आगे आकर संकमण से बचाव के लिए प्रयास करना होगा। सीएम ने कहा कि हिमाचल अपनी स्वर्ण जयंती मना रहा है, इसमें विपक्ष की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने विपक्ष से भी अपील की है कि आप अपनी ज्यादा से ज्यादा भागीदारी के लिए आगे आएं।

यह भी पढ़ें: रामस्वरूप के जाते ही “गुलाब” की सक्रियता, दोहराई मांग- मौत के कारणों की हो जांच

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri) ने कहा कि सरकार के पास असीमित ताकत होती है, विपक्ष को तो केवल सरकार ने पांच दिनों तक ही बाहर रखा, लेकिन सबका कर्तव्य सदन की मर्यादाओं का पालन करना है। आज दिन तक विधानसभा के भीतर कभी कोई एफआईआर नहीं हुई, विधानसभा के भीतर कभी कोई वर्दी धारी प्रवेश नहीं कर पाया, लेकिन इस बार नई परंपरा स्थापित हुई। विपक्ष के लोगों के खिलाफ पहली मर्तबा एफआईआर (FIR) दर्ज की है, यह भी स्वर्ण जयंती साल में एतिहासिक तथ्य दर्ज हो गया है। अब सीएम के विवेक पर मामला छोड़ दिया है कि इस विवाद और जितना मर्जी आगे लें जाएं। मुकेश अग्निहोत्री ने डिप्टी स्पीकर हंसराज को सदन के भीतर दी सुरक्षा का जिक्र करते हुए कहा कि इसकी भविष्य में जरूरत ना पड़े। मुकेश ने कहा कि सदन में बेहद सार्थक चर्चा हुई। इसके लिए सत्ता पक्ष और सीएम जयराम ठाकुर को शुभकामनाएं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है