Covid-19 Update

3,12, 233
मामले (हिमाचल)
3, 07, 924
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,600,711
मामले (भारत)
624,275,834
मामले (दुनिया)

Video: सीएम जयराम ठाकुर ने सदन में आपा खोया, विपक्षी सदस्य को बेशर्म कहा

कहा, दुनिया का सबसे बदतमीज आदमी है ये

Video: सीएम जयराम ठाकुर ने सदन में आपा खोया, विपक्षी सदस्य को बेशर्म कहा

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल विधानसभा में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने सदन में आपा खोया और विपक्षी सदस्य पर बरस पड़े। इतना ही नहीं उन्होंने विपक्षी सदस्य को बेशर्म तक कह दिया। सदन के अंदर गहमागहमी इतनी बढ़ गई कि अध्यक्ष (Speaker) विपिन सिंह परमार को खड़े हो कर सभी सदस्यों को शांत करवाना पड़ा। दरअसल मामला सदस्य जगत सिंह नेगी से जुड़ा हुआ था, उसी पर सीएम ने आपा खो दिया। यहां देखें वीडियो ….

जगत सिंह नेगी बोले- सीएम से इस तरह के व्यवहार की अपेक्षा नहीं थी

सदन में सीएम जयराम और कांग्रेस विधायक जगत नेगी में तीखी नोकझोंक देखने को मिली। जगत नेगी ने किन्नौर में डीसी द्वारा की जा रही अनदेखी को लेकर विधायक के अधिकार का मामला सदन में उठाया और विधानसभा अध्यक्ष विधायक के अधिकार के संरक्षण की मांग की। इस दौरान सीएम जयराम जवाब देने के लिए खड़े हुए तो जगत नेगी ने विधानसभा अध्यक्ष से जवाब देने का आग्रह किया और कहा कि ये सवाल सरकार से नहीं है विधानसभा अध्यक्ष इस पर संज्ञान ले, जिस पर सीएम भड़क गए और जगत नेगी को बदतमीज तक कह दिया। वहीं कांग्रेस विधायक जगत नेगी ने कहा कि सीएम को वक्तव्य देना था तो सम्भल कर देते। लगता है कि उन्होंने सीएम की दुखती रग छेड़ दी है, जिस पर वे भड़क गए।

उन्होंने कहा कि जो मामला सदन में उठाया था, वे सरकार या सीएम से नहीं था। ये विधायक का विशेषाधिकार का मामला था, जो डीसी के खिलाफ था। सीएम को पार्टी बनने की इसमें आवश्यकता नहीं थी, ना ही टिप्पणी करने की। इस तरह की टिप्पणी करके वह जांच को प्रभावित करना चाह रहे थे। सदन में सीएम से इस तरह के व्यवहार की आशा नहीं की जा सकती है और यह मामला सदन के अंदर ही निपट गया गया । सीएम को उन्होंने गरिमा को ध्यान में रखते हुए जवाब दिया है । नेगी ने कहा कि उनके व्यवहार को लेकर उन्हें सीएम से सर्टिफिकेट लेने की आवश्यकता नहीं है। सीएम उन्हें डरा धमका कर नहीं रोक सकते हैं। यह उनका संवैधानिक अधिकार है। इस तरह से सीएम कई बार कर चुके हैं , जब भी मोदी के खिलाफ बोलते हैं तो सीएम को चुभती है। सीएम सोचते हैं कि एक जनजातीय क्षेत्र के विधायक को डरा धमकाकर चुप किया जाएगा, लेकिन वे चुप रहने वाले नहीं हैं और यदि इस तरह की भाषा सदन के अंदर दोबारा से प्रयोग की जाती है तो इसका जवाब भी उसी तरह से दिया जाएगा

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है