Covid-19 Update

2, 84, 982
मामले (हिमाचल)
2, 80, 760
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,131,822
मामले (भारत)
525,904,563
मामले (दुनिया)

हिमाचल: नवविवाहिता की संदिग्ध मौत, परिजनों ने निजी अस्पताल पर जड़े लापरवाही के आरोप

परिजनों के आरोपों के बाद जांच में जुटी पुलिस, मृतक महिला की 22 दिन पहले हुई थी शादी

हिमाचल: नवविवाहिता की संदिग्ध मौत, परिजनों ने निजी अस्पताल पर जड़े लापरवाही के आरोप

- Advertisement -

ऊना। जिला मुख्यालय के एक निजी अस्पताल (Private Hospital) में उपचार के बाद नवविवाहिता (Newly Married Women) की संदिग्ध मौत हो गई। जिस पर मृतका के परिजनों ने निजी अस्पताल के चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप जड़ा है। उनका कहना है कि अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के चलते उनकी लाडली की जान गई है। मृतक महिला की पहचान ममता पत्नी जसवीर सिंह निवासी समनाल के रूप में की गई है। बताया जा रहा है कि करीब 22 दिन पूर्व 23 फरवरी को ही इस युवती की शादी हुई। पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए क्षेत्रीय अस्पताल ऊना भेज दिया है। वहीं, घटना के संबंध में पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: हैवान पति ने गला घोंट की थी पत्नी की हत्या, नोएडा से ऐसे गिरफ्तार किया आरोपी

जिला मुख्यालय के क्षेत्रीय अस्पताल (Regional Hospital Una) में एक नवविवाहिता की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। हालांकि क्षेत्रीय अस्पताल पहुंचने से पूर्व इस नवविवाहिता को उपचार के लिए जिला मुख्यालय के ही एक निजी अस्पताल ले जाया गया था। जहां उसकी हालत ज्यादा बिगड़ जाने के चलते उसे क्षेत्रीय अस्पताल रेफर कर दिया गया था। जहां उसकी मौत हो गई। मृतका के पिता हरोली के भदसाली निवासी कृष्ण और मृतका के मामा ने बताया कि उनकी बेटी को पथरी की शिकायत थी। इसी के चलते उसे जिला मुख्यालय के एक निजी अस्पताल में ससुराल पक्ष के लोग लेकर गए थे। लेकिन वहां पर उसकी हालत ज्यादा बिगड़ गई और चिकित्सकों ने उसे फौरन आनन-फानन में रीजनल अस्पताल रेफर कर दिया, जहां उसकी मौत हो गई। मृतका के परिजनों ने निजी अस्पताल में इलाज में लापरवाही (Negligence in Treatment) का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: घर में मिला नर कंकाल, कैसे हुई मौत; पोस्टमार्टम रिपोर्ट खोलेगी राज

वहीं निजी अस्पताल के प्रबंधक डॉक्टर हरजिंदर सिंह का कहना है कि किडनी में स्टोन की शिकायत के चलते ममता देवी को उनके अस्पताल लाया गया था। जहां उसका उपचार किया गया और वह सामान्य अनुभव कर रही थी। हालांकि उसके बाद अचानक उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और उसे फौरन दवा देने के बाद रीजनल अस्पताल में रेफर कर दिया गया। वहीं डॉक्टर हरजिंदर सिंह का दावा है कि मृतका की माता ने ही बताया है कि ममता देवी की पीजीआई से कोई दवा चल रही थी जो पिछले 1 महीने से वह नहीं ले पाई थी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है