Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

कोरोना संक्रमित की मृत्यु पर IGMC में हंगामा, परिजनों ने जड़े ये आरोप

आईजीएमसी प्रशासन ने आरोपों को किया खारिज, कहा-90 फीसदी फेफड़े हो चुके थे खराब

कोरोना संक्रमित की मृत्यु पर IGMC में हंगामा, परिजनों ने जड़े ये आरोप

- Advertisement -

शिमला। कोरोना संक्रमित (Corona Infected) की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। मामला प्रदेश के सबसे बड़े अस्पाल आईजीएमसी शिमला (IGMC Shimla) का है।परिजनों ने संक्रमित की मौत का ठीकरा आईजीएमसी पर फोड़ा है। आरोप लगाया है कि लापरवाही और ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) समय पर ना मिलने से मौत हुई है।
साथ ही कोविड वार्ड (Covid Ward) में तैनात मेडिकल स्टाफ पर दुर्व्यवहार का भी आरोप लगाया है। मृतक राज कुमार की पत्नी ने कहा कि मरीज की मृत्यु हो चुकी है, लेकिन स्टाफ कहता रहा कि वह ठीक हैं। मरे हुए व्यक्ति को ऑक्सीजन दी गई और वेंटिलेटर पर डाला गया।

यह भी पढ़ें: HP Corona: आज 1,315 केस, चार हजार से अधिक ठीक- 59 की गई जान

वहीं, आईजीएमसी के डिप्टी एमएस डॉ. राहुल गुप्ता (IGMC Deputy MS Dr. Rahul Gupta) ने कहा कि जब मरीज को रेफर करके यहां लाया गया था तो उनके परिजनों से सारी स्थिति स्पष्ट कर दी थी। मरीज के फेफड़ों के 90 फीसदी सेल खत्म हो चुके थे। दवाई और ऑक्सीजन के लिए जो रिस्पांस बॉडी से मिलना चाहिए, वह नहीं मिल रहा था। ऑक्सीजन की कमी के आरोप निराधार हैं। मरीज को 20 से 25 लीटर प्रति मिनट सेंटर सप्लाई से ऑक्सीजन दी जा रही थी। उन्होंने कहा कि अगर परिजनों को लगता है कि लापरवाही हुई तो वह एमएस को लिखित शिकायत दे सकते हैं। मामले की जांच की जाएगी। अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है