Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,723,560
मामले (भारत)
199,307,256
मामले (दुनिया)
×

#Birdflu : पौंग में हर रोज मर रहे प्रवासी पक्षी, आज 2 कौवों सहित 7 मिले मृत

पौंग बांध में अब तक कुल 4982 प्रवासी पक्षियों की हो चुकी है मौत

#Birdflu : पौंग में हर रोज मर रहे प्रवासी पक्षी, आज 2 कौवों सहित 7 मिले मृत

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल के पौंग बांध (Pong Dam) में प्रवासी पक्षियों की मौत का सिलसिला कम जरूर हुआ है, लेकिन खत्म नहीं हुआ है। बुधवार को पौंग बांध क्षेत्र में बर्ड फ्लू (Bird flu)से पांच और प्रवासी पक्षियों की मौत हो गई है। मरने वाले प्रवासी पक्षियों (Migratory Birds)में दो बार हैडिड गीज और तीन यूरेशियन कूट शामिल हैं। ये पक्षी पौंग झील (Pong Lake)अभ्यारण्य की जवाली (Jawali) और धमेटा बीट में मृत पाए गए हैं। वहीं पौंग बांध के साथ लगते क्षेत्र में दो और कौवों की भी बर्ड फ्लू से मौत हुई है।

यह भी पढ़ें: #birdflu : पौंग झील में पांच प्रवासी पक्षी मिले मृत, अब तक 4,977 की गई जान

इसके अलावा बीते रोज भी मंगलवार को तीन बार हैडिड गीज, एक ब्लैक हैडिड गुल और एक कॉमन कूट समेत पांच पक्षियों की मौत हुई थी। वन विभाग (Forest department) के वन्य जीव विंग की टीमों ने इनका सुरक्षित व वैज्ञानिक ढंग से निपटान कर दिया है। प्रधान मुख्य अरण्यपाल अर्चना शर्मा ने पक्षियों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पिछले आठ दिनों के दौरान यहां मरने वाले पक्षियों की संख्या दस से कम रही है। पौंग बांध वन्य जीव अभयारण्य में अब तक कुल 4982 प्रवासी पक्षियों की मौत हो चुकी है।


यह भी पढ़ें: #Birdflu: पौंग झील में आज कितने प्रवासी पक्षी मिले मृत, कितना पहुंचा आंकड़ा- जाने

कांगड़ा में बर्ड फ्लू से दो कौवों की मौत

पौंग बांध के साथ लगते क्षेत्र में बुधवार को दो और कौवों (Crow)की बर्ड फ्लू से मौत हो गई। पशुपालन विभाग की टीम (Animal Husbandry Team) ने इनको सुरक्षित एवं वैज्ञानिक ढंग से निपटा दिया। कांगड़ा में अब स्थानीय पक्षियों की मौत का आंकड़ा बढ़कर अब 225 पहुंच गया है। इसकी पुष्टि पशुपालन विभाग के जिला कांगड़ा के उप निदेशक डॉ. संजीव धीमान ने की है। कांगड़ा जिले में अब तक बर्ड फ्लू से 204 कौवों की मौत हो चुकी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है