Covid-19 Update

2, 85, 003
मामले (हिमाचल)
2, 80, 796
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,134,332
मामले (भारत)
526,876,304
मामले (दुनिया)

पंचायत घर बेचने के मामले से जिला परिषद उपाध्यक्ष ने उठाया पर्दा, यहां जाने क्या बोले

नरेश कुमार दर्जी ने इसे राजनीतिक साजिश दिया करार, कहा- उन्हें किया जा रहा टारगेट

पंचायत घर बेचने के मामले से जिला परिषद उपाध्यक्ष ने उठाया पर्दा, यहां जाने क्या बोले

- Advertisement -

हमीरपुर। हिमाचल में बीते रोज सामने आए पंचायत घर बेचने (Panchayat House Selling ) के मामले में नया खुलासा हुआ है। आज पंचायत घर बेचने के मामले में जिला परिषद उपाध्यक्ष नरेश कुमार दर्जी ने अपना पक्ष रखते हुए इसे राजनीतिक साजिश करार दिया है। वहीं इस मामले में उन्होंने गलत कार्रवाई करने पर कोर्ट (Court) का दरवाजा खटखटाने की बात भी कही है। इस मामले में उन्होंने स्थानीय विधायक (MLA) पर उन्हें बदनाम करने के आरोप जड़े हैं। उन्होंने स्थानीय विधायक पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह आगामी विधानसभा चुनावों के दृष्टिगत सक्रिय हैं, ऐसे में उन्हें टारगेट किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:हिमाचलः पिता-पुत्र ने मिलकर राजस्थानी को बेच दिया पंचायत घर

उन्होंने मामले में स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा कि जब वह पंचायत प्रधान (Panchayat Paradhan) थे तो उस समय पंचायत का अपना भवन नहीं था और पंचायत को एक सराय में चलाया जा रहा था। जिसके बाद पंचायत ने अपना भवन बनाया और उस सराय को खाली कर दिया। जिसे बाद में उनके बेटे ने उस सराय को उसके कब्जे वाले व्यक्ति से 2013 में खरीद लिया। नरेश कुमार दर्जी ने बताया कि यहां पर 4 मरले भूमि को 3 लाख में खरीदा गया, जो कि देह आबादी थी। उसके बाद बेटे ने इसे किसी और को 5 लाख रुपये में बेच दिया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: महिला का आरोप, पति को बहला फुसला कर करवाई जमीन की रजिस्ट्री

उपाध्यक्ष का कहना है कि उन्होंने इस खरीद.फरोख्त में कुछ भी गलत नहीं किया है। उन्होंने कहा कि सासन पंचायत का अपना भवन है जो कि 2 मंजिला है। जिस पंचायत घर को बेचने की बात कही जा रही है वहां साल 1988 में एक सराय थी। बाद में कुछ समय तक इसमें पंचायत भी भी चलाया गयाए लेकिन इस सराय पर किसी और का कब्जा था। ना तो यहां पर पंचायत घर को बेचा गया है और ना ही वर्तमान समय में यहां पर कोई पंचायत घर है। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर में जो धाराएं लगाई हैं वह सही नहीं है। मामले में उन्होंने कुछ भी गैर कानूनी अथवा गलत नहीं किया है। यदि उनके खिलाफ गलत कार्रवाई की जाएगी तो वह कोर्ट में इस मामले को ले जाएंगे।

यह भी पढ़ें:इस शख्स से सीखें, कैसे ठग से बचाए अपने 90 हजार रुपए
सीएम जयराम पर किया हमला

उपाध्यक्ष ने यह तर्क दिया है कि प्रदेश भर में इस तरह की खरीद.फरोख्त और सबलेटिंग हो रही हैए लेकिन उन्हें ही टारगेट किया जा रहा है। यहां तक की जिला परिषद उपाध्यक्ष सीएम जयराम ठाकुर का नाम लेने से भी नहीं चूके। दर्जी ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के स्थानीय जिले मंडी में भी इस तरह से दुकाने बेची जा रही हैं।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है