Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

कालाअंब की ओरिसन फार्मा कंपनी के खिलाफ केस, प्रतिबंधित दवाओं का है मामला

उद्योग मालिक ने जाली मार्केटिंग फर्मों के साथ षड्यंत्र रचा, पते पर नहीं मिली दोनों कंपनियां

कालाअंब की ओरिसन फार्मा कंपनी के खिलाफ केस, प्रतिबंधित दवाओं का है मामला

- Advertisement -

नाहन। हिमाचल (Himachal) के जिला सिरमौर (Sirmaur) के औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब (Industrial Area Kala Amb) की ओरिसन फार्मा कंपनी (Orison Pharma Company) के मालिक के खिलाफ सिरमौर पुलिस ने धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मामला अवैध तौर पर जाली मार्केटिंग फर्मों के साथ षड्यंत्र रच कर उनके नाम पर प्रतिबंधित दवाओं (Banned Drugs) का निर्माण कर अन्य राज्यों में बेचने के चलते किया गया है। पुलिस ने कालाअंब थाना में धारा 22, 29 एनडीपीएस एक्ट व धारा 420, 467, 468, 471, 120बी आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर की। इस दौरान पुलिस ने उद्योग में दबिश दी। निरीक्षण के दौरान पुलिस ने कंपनी से कुल 30,10,050 टेबलेट और 226.140 किलोग्राम मिक्सड ट्रामाडोल रॉ मेटिरियल बरामद किया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना कर्फ्यू के बीच बिलासपुर में पकड़ी 5 किलो 24 ग्राम अफीम , दो लोग गिरफ्तार

बता दें कि मामला बीती 31 मई को पुलिस थाना कालाअंब (Police Station Kala Amb) के संज्ञान में आया था। पता चला था कि ओरिसन फार्मा द्वारा सेल्सीडाल-100 एसआर जिसमें ट्रामाडोल होता है, का निर्माण मार्केटिंग बॉय पीपी फार्मां मुंबई के लिए किया जाता है। इसके अलावा सेल्वीडॉल 100 एसआर इसमें भी ट्रामाडोल पाया जाता है, इसका निर्माण मार्केटिंग बॉय न्यू केयर हेल्थ केयर साहिबाबाग, अहमदाबाद गुजरात के लिए किया गया था। जब उक्त दोनों कंपनियों के बारे में स्थानीय पुलिस (Police) द्वारा छानबीन की गई तो दोनों कंपनियां पते पर मौजूद नहीं पाई गईं।


यह भी पढ़ें: कुल्लू से चरस लेकर मुंबई जा रहा था युवक , पुलिस ने अल सुबह पकड़ा

उक्त तथ्यों से उजागर हुआ कि स्थानीय दवा निर्माता कंपनी ने प्रतिबंधित नशीली दवाइयों को ऐसी मार्केटिंग कंपनियों (Marketing Companies) के लिए तैयार किया है, जो अस्तित्व में ही नहीं हैं। इसी दवा कंपनी द्वारा ऐसी जाली कंपनी के लिए निर्मित सेल्सीडाल टेबलेट को पंजाब में पुलिस द्वारा भी जब्त करना यह साबित करता है कि ओरिसन फार्मा का मालिक अवैध तौर पर जाली मार्केटिंग फर्मों के साथ षड्यंत्र रच कर उनके नाम पर ऐसी प्रतिबंधित दवाओं का निर्माण कर के अन्य राज्यों में बेच रहा था। इसी आधार पर पुलिस ने कालाअंब पुलिस ने एनडीपीएस (NDPS) और आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। एसपी सिरमौर डॉ. केसी शर्मा (SP Sirmaur Dr. KC Sharma) ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि थाना कालाअंब की पुलिस ने उद्योग में दबिश देकर 30,10,050 टेबलेट और 226.140 किलोग्राम मिक्सड ट्रामाडोल रॉ मैटिरियल बरामद किया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है