×

निजीकरण के खिलाफ हिमाचल में बैंक कर्मियों की हड़ताल, प्रदर्शन कर नारेबाजी भी की

आज और कल बंद रहेंगे बैंक, लोगों को होगी लेनदेन में परेशानी

निजीकरण के खिलाफ हिमाचल में बैंक कर्मियों की हड़ताल,  प्रदर्शन कर नारेबाजी भी की

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी। यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ( United Forum of Bank Unions) के आह्वान पर आज से बैंक कर्मी ( Banker) दो दिन की हड़ताल पर है। ये कर्मचारी केंद्र सरकार की बैंकों के नीजिकरण ( Privatization of banks) का विरोध कर रहे है। प्रदेश के कई स्थानों पर बैंक कर्मियों ने धरना दिया और केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियनस के बैनर तले शिमला में बैंक कर्मियों की नौ यूनियनों के सदस्यों ने संयुक्त रूप से 11 बजे प्रदर्शन किया और नारे लगाए। इन यूनियनों का कहना है कि अगर सरकार उनकी बात नहीं मानती है तो वे आने वासे समय में कड़े कदन उचाने पर मजबूर होंगे। बैंक कर्मियों की हड़ताल के चलते आज लोगों को भी परेशानी उठानी पड़ रही है। हालांकि एटीएम सुचारू रूप से काम कर रहे हैं लेकिन एटीएम के बाहर भी लोगों लाइनें लगी हुई है।


यह भी पढ़ें: टैक्स के दायरे में नहीं आते हैं तो भर लेना ITR -मिलेगा ये लाभ

हमीरपुर में धरना दिया नारे लगाए

हमीरपुर में आज सारे बैंक बंद रहे और बैंक से जुड़े सभी काम बुरी तरह प्रभावित हुए। इस दौरान सभी बैंकों के कर्मचारियों ने पंजाब नेशनल बैंक मंडल कार्यालय हमीरपुर के सामने धरना दिया और सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। पंजाब नेशनल बैंक ऑफिसर एसोसिएशन का आरोप है कि सरकारी बैंकों के निजीकरण से जनता को सीधे-सीधे ये नुकसान होगा कि बैंक में जमा धन के लिए सरकार की जिमेदारी समाप्त हो जाएगी और बैंको में जमा पैसा असुरक्षित हो जायेगा। छोटे दुकानदारों और किसानों को ऋण लेना असंभव हो जायेगा क्योंकि निजी बैंक कभी भी छोटे लोन को प्राथमिकता नहीं देंगे। साथ की सरकारी बैंकों को अपना सुरक्षित भविष्य सोचकर आए बैंक कर्मचारियों का रोजगार खतरे में पड़ जायेगा।पंजाब नेशनल बैंक ऑफिसर एसोसिएशन के राज्य सचिव संदीप ने भी सरकार के निजीकरण के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा की सरकारी बैंकों के निजीकरण से अशिक्षित जनता और ग्रामीण जनता को भारी परेशानी होगी ।

यह भी पढ़ें:  Bank Strike : कल से 10 लाख कर्मचारी हड़ताल पर, आज UPI पेमेंट में अड़चन

नाहन में निजीकरण के विरोध में नारेबाजी

सिरमौर जिला में भी आज सभी राष्ट्रीय कृत बैंक बंद रहे। जिला मुख्यालय नाहन में सभी राष्ट्रीय कृत बैंकों के कर्मचारियों ने निजीकरण के विरोध में नारेबाजी की। बैंक कर्मचारियों ने यह भी ऐलान किया कि यदि बैंकों के निजीकरण के फैसले को वापस नहीं लिया गया तो बैंक कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जाने से गुरेज नहीं करेंगे। राष्ट्रीय कृत बैंक के अधिकारी राकेश वर्मा ने बताया कि राष्ट्र स्तर के आह्वान पर 15 व 16 मार्च को देश सहित सिरमौर जिला में भी सभी राष्ट्रीयकृत बैंक बंद रहेंगे। यह दो दिवसीय हड़ताल बैंकों के निजीकरण के विरोध में की गई है। अभी बैंक कर्मचारी दो दिवसीय सांकेतिक हड़ताल पर गए हैं। यदि फिर भी सरकार बैंकों के निजी करण करने पर उतारू होती है, तो अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जाने से गुरेज नहीं किया जाएगा। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि बैंकों का निजीकरण न किया जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है