Covid-19 Update

3,09, 058
मामले (हिमाचल)
302, 833
मरीज ठीक हुए
4168
मौत
44,314,618
मामले (भारत)
599,293,153
मामले (दुनिया)

करेले के छिलकों का करें सेवन, सेहत को मिलेंगे गजब के फायदे

ब्लड सर्कुलेशन को करते हैं ठीक, डायबिटीज के रोगी भी होते हैं स्वस्थ

करेले के छिलकों का करें सेवन, सेहत को मिलेंगे गजब के फायदे

- Advertisement -

जैसा कि हम सब जानते हैं करेला (Bitter gourd) बेहद कड़वा होता है। कुछ लोग तो इसको खाना भी पसंद नहीं करते हैं, लेकिन हम आपको बता दें कि करेले में बहुत ज्यादा औषधीय गुण होते हैं। करेले का सेवन करने से स्वास्थ्य बेहतर होता है और त्वचा के रोग भी कम होते हैं। आज हम आपको करेले और उसके छिसलकों के गुणों के बारे में बताएंगे।

यह भी पढ़ें:सिर्फ नाम से कड़वा होता है करेला, पर गुण एक से बढ़कर एक

बता दें कि करेले में विटामिन बी1, बी2, बी3 और सी भरपूर मात्रा में होते हैं। इसके अलावा इसमें आयरन और कैल्शियम, फाइबर, मैग्नीशियम, फोलेट, फास्फोरस, जिंक और मैगनीज भी भरपूर मात्रा में होते हैं। अक्सर हम करेले के छिलकों को बेकार समझकर फेंक देते हैं, लेकिन हमें ऐसा नहीं करना चाहिए। दरअसल, करेले के छिलकों से कई तरह की परेशानियां दूर हो जाती हैं। विशेषज्ञों का कहना है इसका उपयोग डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत गुणकारी होता है। हफ्ते में तीन बार छिलके सहित करेले का सेवन करने से कई पौष्टिक लाभ मिलते हैं।

 

त्वचा के लिए लाभदायक:

करेले के छिलके में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे गुण शुमार होते हैं, जो कि त्वचा से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते हैं। इसके अलावा इसका सेवन करने से ब्लड भी साफ होता है। इस कारण त्वचा की तमाम समस्याएं, रक्त विकार दूर हो जाते हैं और ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार होता है।

इतना ही नहीं करेला चेहरे से मुहांसों और दाग-धब्बों को भी दूर करता है। साथ ही साथ इसके सेवन से दाद सोरायसिस और खुजली जैसी समस्या से भी निजात मिलती है। उम्र बढ़ने के संकेतों को रोकने के लिए भी छिलकों (peels) का उपयोग किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट एजिंग प्रोसेस को धीमा करते हैं। इसके एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं और इससे अल्ट्रावायलेट किरणों से होने वाले नुकसान से भी बचा जा सकता है।

छिलकों का बनाएं पाउडर

कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि करेले में ऐसे पदार्थ होते हैं जो भूख को दबाते हैं और ब्लड शुगर (Blood Sugar) लेवल को कम कर देते हैं। अतः यह इंसुलिन की तरह व्यवहार करता है। मगर समस्या यह है कि पूरे साल के लिए करेले उपलब्ध नहीं हो पाते। इसलिए हमें इसका पाउडर (Powder) बना कर रख लेना चाहिए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है