हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

बहुत काम की है यह ट्रिक…सिर्फ दो मिनट में पता लगाएं अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी

दो तरह के फर्टिलाइज्ड और अनफर्टिलाइज्ड होते है अंडे

बहुत काम की है यह ट्रिक…सिर्फ दो मिनट में पता लगाएं अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी

- Advertisement -

लोगों के बीच दो प्रश्न हमेशा से ही फेमस रहे हैं। एक यह कि पहले मुर्गा (Cock) आया कि अंडा। दूसरा यह कि अंडा शाकाहारी होता है या फिर मांसाहारी (Non-Vegetarian)। इन दोनों ही प्रश्नों से लोगों के बीच हमेशा ही कन्फूजन रहती है। अंडा शाकाहारी (Vegetarian) है या मांसाहारी, एक ट्रिक से हम आज आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं। वैसे अंडा शाकाहारी और मांसाहारी दोनों ही तरह होता है। बाजार (Market) में मिलने वाले ज्यादातर अंडे शाकाहारी होते है। कुछ शाकाहारी लोग अंडे को शाकाहारी बोल कर अंडे को खा लेते है।

यह भी पढ़ें:तवे पर अंडे से निकला कुछ ऐसा, देखकर दंग रह गए लोग, वीडियो वायरल

यहां थोड़ी सी गलती हो सकती है, क्योंकि जब मुर्गे और मुर्गी के बीच संसर्ग से जो अंडा (Egg) पैदा होता है वह मांसाहारी होता है। उस अंडे से बाद में चूजा बाहर निकलता है। बाजार में मिलने वाले आम अंडे अनफर्टिलाइज्ड (Unfertilized) होते हैं और उनसे कभी चूजा बाहर नहीं निकालता है। यहां अंतर फर्टिलाइज्ड अंडे (Fertilized eggs) और अनफर्टिलाइज्ड अंडे का होता है। यानी मुर्गियां बिना मुर्गे से संबंध बनाए भी अंडा दे सकती हैं।

छह महीने बाद खुद अंडे देने लगती है मुर्गी

क्षेत्रीय कुक्कुट प्रक्षेत्र भागलपुर की निदेशक (Director) डॉ अंजली ने बताया कि मुर्गी के अंडा देने की एक नैचुरल प्रक्रिया होती है। चूजा उत्पादन के लिए इनक्वेटर हेचरीज (Inquirer hatcheries) का यूज करते हैं। इसके लिए 10 मुर्गी पर एक मुर्गा छोड़ा जाता है। इस केज में जो अंडा होगा, वह फर्टिलाइज अंडा होगा और उससे चूजा निकल सकता है। ऐसे अंडे को नॉन वेजिटेरियन अंडा कहा जाता है।

यानी मुर्गी, मुर्गे के संपर्क में आने के बाद फर्टिलाइजेशन से अंडा देती है। बाजार में ज्यादातर अंडे अनफर्टिलाइज्ड होते हैं, जिनसे कभी चूजे बाहर नहीं निकल पाएंगे। ऐसे अंडों को टेबल परपस से तैयार किया जाता है। मुर्गी जब 6 महीने की हो जाती है तो हर एक-डेढ़ दिन में अंडे देती है, लेकिन इसके लिए जरूरी नहीं कि उसे मुर्गे से संबंध बनाना पड़े।

ऐसे पता लगाएं शाकाहारी और मांसाहारी अंडे के बीच अंतर

डॉक्टर अंजली के अनुसार शाकाहारी और मांसाहारी अंडे में फर्क करने का एक आसान सा तरीका है। इस तरीके में अंडे को एक टेबल पर बने खांचे में रखा जाता है। इसके बाद बंद कमरे में उस टेबल के नीचे एक बल्ब जलाते हैं। बल्ब की रोशनी एक-एक अंडे के नीचे से गुजारी जाती है। इसमें जिस अंडे से रोशनी पार हो जाए या अंडा पूरी तरह से लाल दिखे तो वह शाकाहारी अंडा होगा। मांसाहार वाले अंडे में ऐसी बात नहीं नजर आएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है