Covid-19 Update

2,17,403
मामले (हिमाचल)
2,12,033
मरीज ठीक हुए
3,639
मौत
33,529,986
मामले (भारत)
230,045,673
मामले (दुनिया)

हिमाचल: मत्स्य विभाग की बड़ी कार्रवाई, पौंग में लगाए अंडरसाइज जाले किए जब्त, जाने कारण

लंबे समय से छोटी मछलियों का किया जा रहा शिकार, जारी रहेगी कार्रवाई

हिमाचल: मत्स्य विभाग की बड़ी कार्रवाई, पौंग में लगाए अंडरसाइज जाले किए जब्त, जाने कारण

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी, फतेहपुर। हिमाचल में पौंग बांध (Pong Dam) में छोटी मछलियों का शिकार करने वालों पर मत्स्य विभाग (Fisheries Department) सख्त कार्रवाई की है। शनिवार को मत्स्य विभाग ने पौंग बांध में छोटी मछलियों के शिकार को लगाए गए अंडरसाइज जालों (नेट) (Undersized Net) को अपने कब्जे में ले लिया है। विभाग ने करीब 30 अंडरसाइज जालों को अपने कब्जे में लिया है। मत्स्य विभाग की इस कार्रवाई से छोटी मछलियों का शिकार करने वाले मछुआरों में हड़कंप मच गया है। बता दें कि महाराणा प्रताभ सागर झील पौंग बांध में कुछ मछुआरे छोटी मछलियों का शिकार करने के लिए अंडर साइज के जाले लगाते हैं। छोटी मछली का शिकार अवैध माना जाता है, लेकिन लगातार छोटी मछलियों (Small Fish) के शिकार से यह प्रजाती खत्म होने के कगार पर पहुंच गई है। जिससे मत्स्य विभाग चिंतित है। इसी के चलते विभाग ने आज बड़ी कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: जोगिंदर नगर में अचानक मर गई 2500 ट्राउट फिश, जानें पूरी डिटेल

पौंग बांध के मत्स्य अधिकारी पंकज पटियाल ने बताया कि मछुआरे झील में अंडर साइज (undersized) और कम छेदों वाला जाल डाल रहे हैं, जिसके चलते छोटी मछली पकड़ी जा रही थी। छोटी मछली पकड़ने की वजह से आने वाली सर्दियों में मछुआरों (Fishermen) व विभाग को नुकसान होगा। उन्होंने बताया कि नियमों के अनुसार एक किलो से 800 ग्राम से कम मछली नहीं पकड़ी जा सकती है। अगर कोई पकड़ता है तो उसपर कार्रवाई होती है। वहीं छोटी मछली के आने से ठेकेदार को भी नुकसान होता है। पंकज पटियाल ने कहा कि विभागीय आदेशों और कानून को तोड़ कर जो लोग पौंग वांध मे अंडर साइज जाल लगा रहे थे उनपर कार्रवाई की गई है। इन लोगों के जाले विभाग ने जब्त कर लिए हैं। उन्होंने बताया कि यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। नियमों से खिलबाड़ करने वालों को बख्सा नही जाएगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है