Covid-19 Update

3,08, 133
मामले (हिमाचल)
301, 551
मरीज ठीक हुए
4166
मौत
44,286,256
मामले (भारत)
597,184,669
मामले (दुनिया)

भारत से कितना अलग है रूस, जानिए वहां के नियम और लाइफस्टाइल के बारे में

रूस में जब भी आप घर से बाहर निकलें तो अपने साथ आईडी कार्ड जरूर रखें

भारत से कितना अलग है रूस, जानिए वहां के नियम और लाइफस्टाइल के बारे में

- Advertisement -

रूस और यूक्रेन के बीच युद्द पिछले कई दिनों से जारी है। मॉस्को-कीव में चल रहे युद्ध में शांति वार्ता में अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। रूस में भी लोगों का जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है। वैसे सामान्य स्थितियों की बात करें तो रूस का जनजीवन और वहां के लोगों का लाइफस्टाइल भारत से काफी अलग है। नियमों से लेकर वहां की कुछ परंपराएं या लोगों की आदतें भारत से अलग है, जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं। बात करते हैं कि वहां अब लोग किस तरह से रह रहे हैं। वहां के कुछ नियमों और परंपराओं के बारे में जानकर आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि वहां रहना मुश्किल है या आसान।

यह भी पढ़ें- अभी से गर्म होने लगा देश का यह शहर, 51 डिग्री के पार पहुंचा जाता है टेंपरेचर, यहां जानें इस सिटी के बारे में

रूस में जब भी आप घर से बाहर निकलें तो अपने साथ आईडी कार्ड जरूर रखें। वहां पर कई पब्लिक प्लेस जैसे बार, पब आदि में भी पहले आईडी कार्ड देखा जाता है और उसके बाद उनकी एंट्री की जाती है। रूस में कई जगहों पर आईडी कार्ड चेक होता है। अगर ऐसा नहीं होता है तो आप पर कार्रवाई की जा सकती है।

रूस में जब लोग एक दूसरे के घर जाते हैं तो अंदर प्रवेश करने से पहले अपने जूते उतारते हैं। हालांकि भारत में कई परिवारों में भी ऐसा ही होता है। वहां पर पहले मेहमान को जूते उतारने होते हैं और उसके बाद उन्हें पहनने के लिए tapochki (एक तरह की चप्पल) दी जाती है, जिसे पहनकर घर में प्रवेश करना होता है.। साथ ही मेहमान खाली हाथ नहीं जाते उन्हें साथ में गिफ्ट ले जाना होता है.

रूस के लोगों का मानना है कि जब भी वो किसी को फूल देते हैं तो वो फूल ईवन नंबर में नहीं होते हैं। वे हमेशा ऑड नंबर में ही फूल देते हैं। इसलिए अगर आप रूस जाएं और किसी को फूल दें तो ध्यान रखना कि आप इसकी संख्या ऑड नंबर में ही रखें। पीले फूल भी वहां अशुभ माने जाते हैं।

रुस में अगर किसी को पैसे देने होते हैं तो कोशिश की जाती है कि वो रात में पैसे का लेन देन ना हो। इसलिए रूस के लोग किसी को पैसे देते हैं तो सुबह के वक्त देते हैं और रात में पैसों का आदान-प्रदान कम करते हैं। रूस में सरकारी इमारतें जैसे पुलिस स्टेशन, मिलिट्री इंस्टालेशन, नौकरशाह बिल्डिंग की तस्वीरें नहीं ले सकते हैं। वैसे तो सामान्य तौर पर कोई मना नहीं करता है, लेकिन पुलिस को शक होने पर आप पर पूछताछ की जा सकती है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है