Covid-19 Update

2, 43, 365
मामले (हिमाचल)
2, 28, 454
मरीज ठीक हुए
3874*
मौत
37,380,253
मामले (भारत)
328,826,023
मामले (दुनिया)

हिमाचल: अनुबंध पर लाए जाएंगे पीसमील वर्कर, ड्राइवर-कंडक्टर के आश्रितों को 3 माह में नौकरी

663 पीसमील वर्करों को मिलेगी सौगात, तीन माह में मिलेगी करूणामूलक नौकरी

हिमाचल: अनुबंध पर लाए जाएंगे पीसमील वर्कर, ड्राइवर-कंडक्टर के आश्रितों को 3 माह में नौकरी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश के 981 पीस मील वर्कर को एचआरटीसी ने अनुबंध पर लेने का निर्णय लिया है। एचआरटीसी में फिलहाल 663 पद खाली है जिनमें पहले चरण में अनुभव और डिप्लोमे के आधार पर पीस मील वर्कर को अनुबंध पर लिया जाएगा। इसके अलावा बचे हुए पीस मील वर्कर को सितंबर 2022 तक अनुबंध पर ले लिया जाएगा। परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने एचआरटीसी की बीओडी की मीटिंग के बाद यह जानकारी दी।

हिमाचल में एचआरटीसी (HRTC) के पीसमील वर्करों को अनुबंध पर लेने का बड़ा फैसला हुआ है। यह फैसला आज शिमला में आयोजित हिमाचल पथ परिवहन निगम के निदेशक मंडल की बैठक में हुआ है। इस बैठक की अध्यक्षता परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने की। बीओडी की बैठक में पीसमील वर्कर के लिए योग्यता निर्धारित करने का भी फैसला लिया गया है। बताया जा रहा है कि जो पीसमील वर्कर आईटीआई पास हैं और उनके पास पांच साल का अनुभव है और नॉन आईटीआई वालों के पास छह साल का अनुभव है उनकी योग्यता बनी रहेगी।

अधिक जानकारी देते हुए परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने बताया कि पहली दिसंबर, 2021 तक पीसमील वर्करों के 663 पद खाली हैं और योग्य पीसमील वर्कर 755 हैं। उन्होंने बताया कि पहली दिसंबर 2021 से 663 पीसमील वर्करों को अनुबंध पर लिया जाएगा। जबकि करूणामूलक नौकरी तीन माह के भीतर दी जाएगी। क्लास थ्री और क्लास फोर पोस्ट पर इन्हें लगाया जाएगा। परिवहन मंत्री ने कहा कि एचआरटीसी की बीओडी की मीटिंग में निर्णय लिया गया है कि सेवा के दौरान ड्राइवर व कंडक्टर की एक्सीडेंटल मृत्यु या 80 फीसदी से ज्यादा अपंग होने पर उनके आश्रितों को तृतीय व चतुर्थ श्रेणी की 3 महीने के भीतर करुणामूलक आधार पर नौकरी दी जाएगी और इसमें किसी भी तरह के आय सीमा की शर्त नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः यह सरकारी योजना है बड़े काम की, मुफ्त में होगा दो लाख का बीमा
एचआरटीसी में शामिल होंगी 205 नई बसें

परिवहन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में एचआरटीसी के बेड़े में नई बसें शामिल की जाएंगी। 69 करोड़ रुपये से 205 नई बसें खरीदी जाएंगी। उन्होंने बताया कि यह खरीद मार्च 2022 से पहले कर ली जाएगी। वहीं परिवहन मंत्री ने कहा कि कोरोना काल में एचआरटीसी को सबसे ज्यादा 840 करोड़ का नुकसान हुआ है। एचआरटीसी को चलाने के लिएए कर्मचारियों के वेतन.भत्ते देने के लिए हिमाचल सरकार ने 940 करोड़ का अनुदान दिया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है