Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,414,471
मामले (दुनिया)
×

Mukesh बोले- Corona मौतें प्राकृतिक नहीं बल्कि हत्याएं, सरकार पूरी तरह फेल

बोले-बेड कैपेसिटी बढ़ाने से सुविधाएं मुहैया करवाए सरकार

Mukesh बोले- Corona मौतें प्राकृतिक नहीं बल्कि हत्याएं, सरकार पूरी तरह फेल

- Advertisement -

ऊना। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri) प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि कोरोना (Corona) काल में बेहतर सुविधाएं देने के दावे करने वाली सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है। हालत यह है कि सरकार केवल बेड कैपेसिटी (Bed Capacity) बढ़ाने पर जोर दे रही है, जबकि रोगियों को जरूरत के अनुसार सुविधाएं मिल ही नहीं रही, जिसके कारण संक्रमण से जूझ रहे लोग दम तोड़ कर जा रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने आरोप जड़ा है कि प्रदेश भर में कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण के कारण हो रही मौतें प्राकृतिक मौतें नहीं है बल्कि यह हत्याएं हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में बेड कैपेसिटी ऐसे बढ़ाई जा रही है जैसे बारात को ठहराना हो। सरकार को चाहिए कि प्रदेशभर के मेडिकल कॉलेजों में वेंटिलेटर और आईसीयू (ICU) की सुविधाओं को बढ़ाया जाए। उन्होंने आरोप जड़ा कि इस वक्त रोगियों को रेफरल ही नहीं मिल रहा, जिसके चलते वह दम तोड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: नूरपुर अस्पताल में भी गंभीर Covid मरीजों को मिलेगा उपचार, आज से शुरू

उन्होंने कहा कि बेड कैपेसिटी बढ़ाने की बजाय सुविधाओं पर अधिक जोर दिया जाना चाहिए जैसे प्रदेश भर के मेडिकल कॉलेजों में आईसीयू और वेंटिलेटर (Ventilator) जैसी सुविधा प्रदान की जानी चाहिए। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार के प्रबंधन का इसी से पता चल जाता है कि ऊना (Una) जिले के हरोली अस्पताल पर सबसे ज्यादा लोड है, लेकिन वहां पर ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) जैसी किसी सुविधा पर ध्यान नहीं दिया जा रहा। उन्होंने कहा कि सरकार से हरोली अस्पताल में सरकारी या निजी उद्योगों की मदद से ऑक्सीजन प्लांट लगाने की मांग भी उठाई।


यह भी पढ़ें: हिमाचल में दिखने लगा Corona Curfew का असर, कम हो रही संक्रमण दर

मुकेश अग्निहोत्री ने कारोबारियों से भी इस विकट परिस्थिति में धैर्य रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग कोई भी ऐसा कदम ना उठाएं जो उनके लिए आत्मघाती साबित हो जाए। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार को भी चाहिए कि संकट की इस घड़ी में कारोबारियों को किसी प्रकार का मुआवजा देकर उनके परिवारों का पालन पोषण करने के काबिल बनाया जाए। एक तरफ प्रदेश सरकार ने 65 फीसदी दुकानों को खोल दिया है, लेकिन 35 प्रतिशत कारोबारियों को दुकानें बंद रखने के आदेश देकर उनके साथ कुठाराघात किया जा रहा है। सरकार को कारगर रणनीति बनाकर व्यापारी वर्ग को राहत प्रदान करनी चाहिए, जिससे कारोबार जगत तनाव की स्थिति से उबर सके।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है