Covid-19 Update

3,07, 061
मामले (हिमाचल)
2,99, 605
मरीज ठीक हुए
4162
मौत
44,223,557
मामले (भारत)
593,515,060
मामले (दुनिया)

विषपान करके नीलकंठ कहलाए थे महादेव, पसंद हैं ये सब चीजें

भोलेनाथ को चढ़ाया जाता है भांग, धतूरा, आक और बेलपत्र

विषपान करके नीलकंठ कहलाए थे महादेव, पसंद हैं ये सब चीजें

- Advertisement -

सावन का माह चल रहा है। यह माह भगवान शिव (Lord Shiva) को अति प्रिय होता है। यही कारण है कि यदि आप भगवान भोले को खुश करना चाहते हैं तो इस माह इनकी विशेष कीजिए। इस माह भोलेनाथ अपने भक्तों पर जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। आइए जानें भगवान भोलेनाथ को क्या प्रिय है और वह चीज भोलेनाथ को आखिर क्यों अर्पित की जाती है।

यह भी पढ़ें:आज है सावन महीने का पहला सोमवार, महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से होगा लाभ

बता दें कि भोलेनाथ को आक, भांग, बेलपत्र, धतूरा और एक लोटा जल का अर्पित कर देने से भोलेनाथ प्रसन्न हो जाते हैं। इन सब चीजों के अर्पित करने से इस माह में भोलेनाथ की विशेष कृपा की प्राप्ति होती है। गौरतलब है कि भोलेनाथ का नाम नीलकंठ भी है। इसका कारण यह है कि भोलेनाथ ने विष को गले से नीचे नहीं उतरने दिया था। विष का प्रभाव महादेव (Lord Shiva) के सिर चढ़ने लगा था और वे काफी व्याकुल हो गए थे।

यह भी पढ़ें:चिंता से निजात दिलाते हैं ये उपाय, आप भी जरूर करें

कहा जाता है कि महादेव काफी परेशान हो गए और अचेत अवस्था में चले गए। उनको इस स्थिति में देखकर देवी-देवता अचंभित हो गए। उसी दौरान मां आदि शक्ति प्रकट हो गई। उन्होंने महादेव का उपचार करना आरंभ कर दिया। इसके लिए मां ने जड़ी-बूटियों और जल का प्रयोग किया। आदिशक्ति की ओर से दिए गए निर्देश के अनुरूप ही सभी देवी-देवताओं ने महादेव के मस्तिष्क पर भांग (Cannabis), आक, धतूरा और भांग रखी। साथ ही वे निरंतर जलाभिषेक भी करते रहे। इस कारण विष का प्रभाव कम हुआ और महादेव के मस्तिष्क का ताप भी कम हुआ।

यह भी पढ़ें:हाथ से नहीं गिरनी चाहिए पूजा की ये चीजें, जीवन में आती हैं मुश्किलें

वहीं, आयुर्वेद में भांग व धतूरा को एक औषधि बताया गया है। इसके अतिरिक्त शास्त्रों में बेलपत्र के तीन पत्तों को रज, सत्व और तमोगुण का कारण माना गया है। अगर यह सीमित मात्रा में लिया जाए तो औषधि के अनुरूप ही कार्य करता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है