Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

बैंक का यह पेमेंट ऑप्शन 14 घंटे के लिए नहीं करेगा काम, हो सकती है मुश्किल

money transfer rtgs facility will be unavailable for 14 hours due to maintenance

बैंक का यह पेमेंट ऑप्शन 14 घंटे के लिए नहीं करेगा काम, हो सकती है मुश्किल

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना के दौर में एक बात का जरूर फायदा हुआ है। वह है ऑनलाइन ट्रांजेक्शन (Online transaction) का। कोरोना काल में जब सभी जगह बंद पड़ी थी तो ऐसे में लोगों ने पेमेंट के लिए ऑनलाइन पेमेंट ऐप (Payment App) का इस्तेमाल करना शुरू किया था। नेट बैंकिंग का भी इस दौरान चलन बढ़ा है। अब खबर आ रही है कि वीकेंड लॉकडाउन (Weekend lockdown) पर आपके बैंक की एक खास सर्विस आरटीजीएस (RTGS-Real-Time Gross Settlement) बंद रहेगी। ऐसे में आप भी आरटीजीएस के जरिए पैसे भेज रहे हैं या मंगवा रहे हैं तो सावधान रहें।

यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीनेशन कराने पर Bank FD पर मिलेगा ज्यादा ब्याज

सबसे पहले आपको बता दें कि आरटीजीएस (RTGS) का इस्तेमाल कौन करता है और किस लिए ज्यादा होता है। दरअसल, पैसा ट्रांसफर के लिए RTGS का इस्तेमाल होता है। इसके जरिए आप एक बैंक अकाउंट से दूसरे खाते में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। आपको बता दें कि पैसों के लेनदेन के लिए आरटीजीएस की शुरुआत 26 मार्च 2004 को हुई थी। उस समय चार बैंक ही इससे भुगतान की सुविधा देते थे।आज भी लेनदेन के लिए आम ग्राहक इसका इस्तेमाल कम ही करते हैं। दरअसल, कारोबारी, सरकारी सेक्टर और बड़े पेमेंट के लिए आरटीजीएस का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। आरटीजीएस में फंड ट्रांसफर की कम से कम सीमा दो लाख रुपए है। उधर, अब भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) ने कहा है कि शनिवार की मध्य रात्रि से 14 घंटे के लिए RTGS की सेवा उपलब्ध नहीं होगी। 17 अप्रैल शाम से 14 घंटे के लिए यह सेवा प्रभावित रहेगी।


कितने तरीकों से ट्रांसफर होते हैं पैसे

आपको बता दें कि बैंक आरटीजीएस (RTGS) के अलावा IMPS और NEFT के जरिए भी पैसे ट्रांसफर करते हैं। आईएमपीएस (IMPS) यानी इमीडियेट मोबाइल पेमेंट सर्विस होती है। आईएमपीएस के इस्तेमाल से किसी भी खाता धारक को कभी भी पैसे भेजे जा सकते है। आईएमपीएस के जरिए एक रुपए से लेकर 2 लाख रुपए तक का ट्रांसफर ही किया जा सकता है। कई बैंकों में आईएमपीएस से पैसे ट्रांसफर करने पर फीस भी लगती है। एनईएफटी (NEFT) को नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर कहते है। इसके जरिए भी आप किसी भी 24 घंटे में कभी पैसे भेज सकते हैं, लेकिन इसका ट्रांसफर का मोड रियल टाइम नहीं होता है। इससे पैसे ट्रांसफर होने में थोड़ा सा वक्त लगता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है