Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,392,486
मामले (भारत)
228,078,110
मामले (दुनिया)

रानीताल सड़क हादसा: बाथू पुल के नीचे एक साथ जली मां-बेटे की चिताएं

एसडीएम कांगड़ा ने डीएसपी देहरा को हादसे की जांच के दिए आदेश

रानीताल सड़क हादसा: बाथू पुल के नीचे एक साथ जली मां-बेटे की चिताएं

- Advertisement -

कांगड़ा। हिमाचल के कांगड़ा जिला के रानीताल में हुए सड़क हादसे (Road Accident) में मां और बेटे की मौत हो गई थी। मंगलवार को बाथू पुल के नीचे बने शमशान घाट में मां और बेटे का एक साथ अंतिम संस्कार (Funeral) किया गया जिसमें पंचायत के सैंकड़ों लोग शामिल हुए। बता दें कि कांगड़ा उपमंडल के रानीताल में सोमवार रात एक गाडी अनियंत्रित होकर सड़क किनारे रखे पत्थर से जा टकराई। इस हादसे में चार लोग घायल हुए। जिन्हें स्थानीय लोगों की मदद से इलाज के टांडा मेडिकल कॉलेज (Tanda Medical College) ले जाया गया। जहां पर रामचंद ने रात को ही दम तोड़ दिया। वहीं ,सुबह होते होते राम चंद की मां निर्मला देवी की भी मौत हो गई। इस हादसे में तिलकराज और उसकी पत्नी सुमना देवी का इलाज अस्पताल (Hospital) में अभी भी जारी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में भूस्खलन की चपेट में आई कार, छत काट बाहर निकाला घायल चालक

हादसे में दोनों मृतकों के शवों को मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद बाथू पुल के नीचे बने शमशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया। एक साथ दो चिताएं जलता देख वहां मौजूद हर किसी की आंख नम हो गई। वहीं पंचायत रानीताल के प्रधान (Ranital Panchayat Pradhan) प्रवीण बॉबी ने बताया कि इस हादसे के बाद भी प्रशासन नहीं जागा है और नेशनल हाइवे के किनारे पड़े पत्थरों को हटाया नहीं गया है। उन्होंने बताया कि सड़क किनारे पड़ी चट्टनें दर्दनाक हादसों को न्योता दे रही हैं। हादसे के बाद कांगड़ा जिला प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को 20 हजार की फोरी राहत प्रदान की है। कांगड़ा उपमंडलाधिकारी अभिषेक वर्मा ने बताया कि सड़क हादसे में जान गंवाने वाले मां पुत्र के प्रति प्रशासन की संवेदनाएं है। पुलिस उपाधिक्षक देहरा को इस हादसे की जांच के आदेश दिए गए हैं।

रामचंद ने पिछले कल दुल्हन बेटी घर से की थी विदाई

इस हादसे में जान गवांन वाले व्यक्ति ने बीते रोज ही अपनी बेटी को दुल्हन (Bride) बनाकर विदा किया था। वहीं मरने वाली महिला दुल्हन की दादी थी। हादसे में गंभीर घायल दुल्हन के चाचा और चाची बताए गए हैं। घर में शादी के बाद की खुशियां मातम में बदल गईं। हादसे में जान गंवाने वाले राम चंद की बेटी की रविवार को ही शादी हुई थी और सोमवार सुबह बेटी की विदाई हुई थी। बेटी के सुसराल पक्ष ने कार्यक्रम था और इसलिए राम चंद का परिवार बेटी की ससुराल नंदरुल गया हुआ था।

 

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है