Covid-19 Update

3,04, 436
मामले (हिमाचल)
2,95, 181
मरीज ठीक हुए
4154
मौत
44,126,994
मामले (भारत)
588,052,691
मामले (दुनिया)

फोन पर बात करते समय इस बात का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकता है नुकसान

स्मार्टफोन की रेडिएशन से हो सकता है ब्रेन ट्यूमर व कैंसर

फोन पर बात करते समय इस बात का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकता है नुकसान

- Advertisement -

आजकल ज्यादातर लोग स्मार्टफोन (Smartphone) चलाते हैं। स्मार्टफोन की मदद से हमारे बहुत सारे काम घर बैठे-बैठे आसानी से हो जाते हैं। हालांकि, स्मार्टफोन चलाते वक्त हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से ब्रेन ट्यूमर और कैंसर जैसी बीमारियां हो सकती हैं। आज हम आपको स्मार्टफोन चलाते कुछ टिप्स को फॉलो करने के बारे में बताएंगे।

ये भी पढ़ें-अब स्मार्टफोन में नहीं आएगा वायरस, बस इन बातों का रखना होगा ध्यान

जैसा कि हम सब जानते हैं कि स्मार्टफोन से खतरनाक रेडिएशन निकलती हैं। जो कि कई बार इंसानों के लिए काफी खतरनाक साबित होती हैं। इन रेडिएशन से हमारे शरीर और दिमाग पर बहुत बुरा असर पड़ता है। ये रेडिएशन ब्रेन ट्यूमर से इफेक्ट होने के चांसेस को 40 प्रतिशत से बढ़ा देती हैं। हर 30 सेकेंड में फोन से हीट रेडएशन निकलते हैं और ये रेडिएशन हमारे शरीर के प्रमुख ऑर्गन्स को खराब कर सकती हैं। गौरतलब है कि स्मार्टफोन में कई सारे फीचर्स और सुविधाएं हैं, लेकिन ज्यादातर लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल बात कॉल करने के लिए करते हैं। ध्यान रहे कि ज्यादा देर फोन पर किसी से बात ना करें। दरअसल, कॉल के दौरान ये रेडिएशन काफी बढ़ जाती हैं। ऐसे में अगर कभी किसी से बात करना बेहद जरूरी है तो फोन स्पीकर पर रख कर बात करें। इतना ही नहीं फोन को अपने शरीर के साथ डायरेक्ट कांटेक्ट में ना रखें।

आमतौर पर हमारा स्मार्टफोन हमारे साथ ही होता है, लेकिन हम आपको बता दें कि कुछ जगह ऐसी भी होती हैं, जहां हमें कभी भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। बता दें कि हमें ट्रैवल करते समय स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। दरअसल, उस समय सिग्नल के लिए फोन बहुत एक्टिव होता है, जिसके कारण रेडिएशन भी ज्यादा होती हैं। इसके अलावा पार्क की हुई गाड़ी में बैठकर भी स्मार्टफोन नहीं चलाना चाहिए। पार्किंग में लगी आसपास की गाड़ियों और आपकी गाड़ी से निकल रही हीट के कारण फोन की बैटरी की रेडिएशन काफी बढ़ जाती हैं। इस कारण रेडियो फ्रीक्वेंसी रेडिएशन भी मैग्नीफाई हो जाती हैं।

ज्यादातर लोग फोन का इस्तेमाल करते-करते सो जाते हैं। बता दें कि रात को स्मार्टफोन से निकलने वाले रेडिएशन और तमाम इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड स्लीप साइकिल को खराब कर सकते हैं। इस कारण हमें घबराहट बढ़ सकती हैं और मांसपेशियों में भी दर्द की समस्या बन सकती है। इतना ही नहीं इसका असर हमारे इम्यून सिस्टम पर भी पड़ता है, जिससे हमें कमजोरी महसूस होने लगती है। इसके अलावा सिर दर्द और थकावट का सामना भी करना पड़ सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है