Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

जयराम बोले-Himachal में कालाबाजारी की गुंजाइश नहीं, जो करेगा वो भुगतेगा

सीएम ने आईजीएमसी में न्यू ओपीडी ब्लॉक का किया निरीक्षण

जयराम बोले-Himachal में कालाबाजारी की गुंजाइश नहीं, जो करेगा वो भुगतेगा

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कोरोना (Corona) काल में कालाबाजारी करने वालों को चेताया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल (Himachal) में कालाबाजारी (Black Marketing) की गुंजाइश नहीं है। अगर कोई करेगा तो वो भुगतेगा भी। सीएम जयराम ठाकुर आईजीएमसी (IGMC) नए ओपीडी ब्लॉक व प्रस्तावित पार्किंग स्थल का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आईजीएमसी में बेड (Bed) की क्षमता बढ़ाने के लिए नए ओपीडी ब्लॉक का निरीक्षण किया। आईजीएमसी में कोविड मरीजों (Covid Patients) के लिए अतिरिक्त पांच सौ बेड क्षमता को जोड़ा जा रहा है। ओपीडी ब्लॉक के दो फ्लोर कोविड मरीजों को डेडिकेट कर दिए गए हैं। बाकी फ्लोर भी तैयार हैं, बस बेड आदि लगाने की औपचारिकता बची है।

यह भी पढ़ें: जयराम बोले- प्रदेशभर में बनाए जा रहे हैं मेक शिफ्ट अस्पताल, कितने तैयार- जाने

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि स्मार्ट सिटी (Smart City) के तहत आईजीएमसी में पार्किंग (Parking) का निर्माण करवाया जा रहा है। इसका शिलान्यास हो चुका है। इस पार्किंग में पांच सौ गाड़ियों के पार्क करने की क्षमता होगी, इसे बाद में आठ सौ तक बढ़ाया जाएगा। अगले साल अगस्त या सितंबर तक यह काम पूरा होने की उम्मीद है। काम के पूरा होने से आईजीएमसी के पास के अच्छी पार्किंग होगी। इससे कि डॉक्टरों (Doctors), अस्पताल के अन्य स्टाफ व मरीजों को दिक्कत नहीं आएगी। आईजीएमसी में लोगों का आना सहज होगा।


 

 

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) लगाया गया है। इसके तहत कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं। पब्लिक व निजी ट्रांसपोर्ट को बंद रखा गया है। आवश्यक काम से जाना होगा तभी प्राइवेट गाड़ी चल सकेगी। वहीं, मार्केंट खोलने के लिए तीन घंटे का समय तय किया गया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में किसी भी प्रकार के बेड, ऑक्सीजन (Oxygen), पीपीई किट व मास्क (Mask) की कमी नहीं है। कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) जिस भी व्यक्ति को अस्पताल में दाखिल करने की जरूरत पड़ रही है, उसे बेड ना होने के कारण वापस नहीं भेजा जा रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है