Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

Virbhadra को लेकर पांच नेताओं का बड़ा ऐलान, डैमेज कंट्रोल को उतरे बाली

23 जून को स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाया जाएगा पूर्व सीएम का जन्मदिन

Virbhadra को लेकर पांच नेताओं का बड़ा ऐलान, डैमेज कंट्रोल को उतरे बाली

- Advertisement -

शिमला। राजनीति का रंग भी बड़ा अजीब होता है। कई बार कोई करीबी विरोधी बन जाता है तो कई बार विरोधी दोस्त। राजनीति में मतभेद भी अक्सर देखने को मिलते हैं। किसी ने कहा भी है कि मतभेद हो जाएं तो कोई बात नहीं मनभेद नहीं होना चाहिए। होर्डिग प्रकरण के बाद आजकल हिमाचल कांग्रेस (Himachal Congress) में भी कुछ ऐसा देखने को मिल रहा है। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह समर्थित कांग्रेस नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Leader of Opposition Mukesh Agnihotri), पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा, विधायक आशा कुमारी और विक्रमादित्य सिंह एकजुट हो गए हैं, वहीं अब कौल सिंह ठाकुर भी इसी खेमे में आते दिख रहे हैं। होर्डिंग में पूर्व वीरभद्र सिंह अनदेखी के बाद एक तरफ जहां उक्त पांचों नेताओं ने ऐलान किया है कि आगामी विधानसभा चुनाव पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में लड़े जाएंगे और 23 जून को वीरभद्र सिंह के जन्मदिन को स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। दूसरी तरफ, होर्डिंग प्रकरण के बाद पूर्व मंत्री जीएस बाली भी डैमेज कंट्रोल (Damage Control) के लिए मैदान में उतर आए हैं। उन्होंने वीरभद्र सिंह की तारीफ में फेसबुक पेज पर फोटो सहित पोस्ट शेयर की है और वीरभद्र सिंह को हमारा नेता कहा है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेताओं ने जयराम सरकार को घेरा, भ्रष्टाचार के आरोपों की लगाई झड़ी

बता दें कि करीब दो हफ्ते पहले हिमाचल में कांग्रेस के होर्डिंग फाड़ने का मामला सामने आया था। शिमला से इसकी शुरूआत हुई। इसके बाद कांगड़ा और मंडी में भी होर्डिंग फाड़े गए। यह होर्डिंग पूर्व पीएम राजीव गांधी (Former PM Rajiv Gandhi) की 30वीं पुण्यतिथि पर लगाए गए थे। पूर्व पीएम राजीव गांधी की 30वीं पुण्यतिथि पर कोरोना महामारी (Corona epidemic) से लोगों की रक्षा व सहायतार्थ अभियान कांग्रेस ने कांगड़ा से शुरू किया था। इसके तहत प्रदेश के सभी जिलों ब्लॉकों व सभी पंचायतों में कोविड सुरक्षा किट वितरित करने के लिए भेजी गईं। इसी से संबंधित होर्डिंग प्रदेशभर में लगाए गए। इन होर्डिंग (Hoarding)में एक तरफ पूर्व पीएम राजीव गांधी का बड़ा फोटो व दूसरी तरफ पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली (Former Transport Minister GS Bali) का भी बडा फोटो दिख रहा है। होर्डिंग के ऊपरी सिरे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, राजीव शुक्ला, कुलदीप राठौर व मुकेश अग्निहोत्री नजर आ रहे थे। जबकि नीचे की तरफ हर जिला में उस जिला के पार्टी अध्यक्ष का फोटो लगाया गया है। शिमला जिला में वहां के पार्टी अध्यक्ष का फोटो लगाया गया, लेकिन इन होर्डिंग में कहीं भी पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Former CM Virbhadra Singh)का फोटो नहीं लगाया गया है। इसी से रूष्ट होकर ये होर्डिंग फाड़े गए थे। वहीं, मंडी में तो पंडित सुखराम और कौल सिंह ठाकुर (Pandit Sukhram and Kaul Singh Thakur) के फोटो भी इसमें से गायब थे।


यह भी पढ़ें: HRTC के कर्मियों और पेंशनरों को इसी माह होगा मेडिकल बिलों का भुगतान

इस मामले के बाद वीरभद्र सिंह समर्थित खेमा सक्रिय हो गया। ऊना और मैहतपुर के बीच स्थित होटल में 31 मई को नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, विधायक आशा कुमारी और पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा की मुलाकात हुई तो पिछले कल शिमला में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के आवास में इन तीन के अलावा पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर और विधायक विक्रमादित्य सिंह (MLA Vikramaditya Singh) भी मौजूद रहे। इन नेताओं ने आज शिमला में संयुक्त प्रेसवार्ता की। एक स्वर में कहा कि हिमाचल में वीरभद्र सिंह ही उनके नेता हैं और अगला विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। उक्त पांचों नेताओं ने कहा कि वीरभद्र सिंह अभी आईजीएमसी में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। पांचों नेताओं ने ऐलान किया कि 23 जून को वीरभद्र सिंह के जन्मदिवस को स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाया जाएगा।


क्या बोले जीएस बाली

पूर्व मंत्री जीएस बाली ने फेसबुक पेज के माध्यम से कहा कि हमारे नेता पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह आईजीएमसी (IGMC) में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। मैं उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं। वीरभद्र सिंह के साथ 70 के दशक से उनके पारिवारिक और घनिष्ठ संबंध रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में प्रेशर कुकर की उनकी फैक्ट्री का उद्घाटन पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के कर कमलों से ही हुआ था। हजारों मील प्रदेश के चप्पे-चप्पे में हम लोग 80 के दशक में गाड़ी से घूमे, जिसे मैं खुद चलाया करता था। 4 दशकों के हमारे सफर में कई मुकाम आए। खट्टे-मीठे कई अनुभव रहे, कभी बात होती कभी किसी मुद्दे पर अनबन भी हो जाती, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ कि उन्होंने वीरभद्र सिंह को कोई काम कहा हो, उन्होंने ना किया हो या उन्होंने मुझे कोई कार्य दिया हो मैं उस पर खरा ना उतरा हूं। यहां तक कि उनकी पहली गाड़ी खरीद का फैसला भी उन्होंने मुझे लेने को कहा था।
नगरोटा और प्रदेश के विकास में उन्होंने जो भी प्रोजेक्ट आगे किया वीरभद्र सिंह ने तुरंत उस पर हामी भरी। एक मंत्री, विधायक अपने इलाके में विकास की गंगा तभी बहा सकता है, जब सीएम का पूर्ण आशीर्वाद साथ हो, जो हमेशा वीरभद्र सिंह का उनके ऊपर रहा। वह पुनः उनके स्वास्थ्य की मंगल कामना परमपिता परमेश्वर से करते हैं और पूर्ण विश्वास के साथ यह उम्मीद करता हूं कि वीरभद्र सिंह एक बार फिर स्वस्थ होकर हमारे बीच आएंगे और कांग्रेस पार्टी का मार्गदर्शन करेंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है