Covid-19 Update

1,99,430
मामले (हिमाचल)
1,92,256
मरीज ठीक हुए
3,398
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल : बारिश-ओलावृष्टि ने मचाई तबाही, कहीं दबे वाहन; तो कहीं फटा बादल

पहाड़ों पर हुई बर्फबारी से गर्मी से मिली निजात,

हिमाचल : बारिश-ओलावृष्टि ने मचाई तबाही, कहीं दबे वाहन; तो कहीं फटा बादल

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में मौसम विभाग (weather department) के अनुसार प्रदेश भर के कई क्षेत्रों में आज जमकर बारिश (Rain) के ओलावृष्टि हुई। इसके साथ ही पहाड़ों पर ताजा बर्फबारी (Snowfall) हुई है। जून के माह में बर्फबारी से गर्मी का असर कम ही देखने को मिल रहा है। वहीं बारिश ने प्रदेश के कई क्षेत्रों में भारी तबाही भी मचाई है। चंबा (Chamba) में दोपहर बाद हुई भारी बारिश के बीच मुगला नाला उफान पर आ गया। नाले में जलस्तर बढ़ने से कई वाहन मलबे में दब गए। वहीं, कीचड़ और मलबा लोगों के घरों में भी घुस गया। जिला सोलन के अर्की उपमंडल की ग्राम पंचायत कंधर के गांव टिकरू व कंधर गांव में बादल फटने से ग्रामीणों को भारी नुकसान हुआ है। लोगों का कहना है कि कोई जानी माली नुकसान नही हुआ है लेकिन जहां ग्रामीणों के घरों में पानी व मलबा चला गया है। कई गाड़ियां भी पानी के साथ आए मलबे की भेंट चढ़ गई है।
लोगों के घरों में पानी और मलबा घुस गया है। उन्होंने जिला व स्थानीय प्रशसन से बारिश के करण हुए नुकसान का आंकलन कर लोगों को उचित मुआवजा देने की मांग की है। इसी तरह से कुल्लू (Kullu) की बंजार घाटी में तेज बारिश से बाह्य सराज को जोड़ने वाला औट-आनी-सैंज हाईवे-305 लारजी के पास पहाड़ी से मलबा आने से बंद हो गया। करीब चार बजे से एनएच देर शाम तक यातायात के लिए पूरी तरह से ठप रहा। इस कारण सड़क के दोनों तरफ वाहनों का जाम लग गया। बिलासपुर जिले में बुधवार दोपहर बाद करीब आधा घंटा जमकर बारिश हुई। बारिश के साथ करीब 10 मिनट तक ओलावृष्टि भी हुई।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में बारिश-ओलावृष्टि ने मचाई तबाही, आसमानी बिजली गिरने से दो बच्चे बेहोश

 


 

सिरमौर के नौहराधार में भी करीब एक घंटा बारिश होती रही। बुधवार को प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बुधवार को लगातार दूसरे दिन भी बर्फबारी का दौर जारी रहा। मंगलवार रात और बुधवार सुबह रोहतांग के साथ ऊंचे इलाकों में बर्फ के फाहे गिरे। मकवरे, शिकबरे, हनुमान टिब्बा सहित कुंजुम दर्रा और बारालाचा में भी बर्फबारी हुई। राजधानी शिमला में बुधवार दोपहर बाद करीब एक घंटा झमाझम बादल बरसे। बुधवार को मंडी में दिनभर हल्के बादल छाए रहे। दोपहर बाद हल्की बूंदाबांदी हुई।  प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में मौसम मिलाजुला बना रहा। बुधवार को प्रदेश के अधिकतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई। बिलासपुर में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। मंडी में हल्की बूंदाबांदी हुई। प्रदेश के मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा में गुरुवार से मौसम साफ रहने के आसार हैं। मध्य पर्वतीय जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों किन्नौर और लाहुल स्पीति में पांच जून तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है।

हिमाचल में 24 जून से दस्तक देगा मानसून

हिमाचल में इस बार मानसून 24 जून को दस्तक देगा। जबकि प्री-मानसून 15 जून से आरंभ हो जाएगा। निदेशक मौसम विभाग मनमोहन सिंह ने के अनुसार इस बार प्रदेश में अच्छी बारिश का अनुमान है। प्रदेश में अप्रैल में सामान्य से 11 फीसदी और मई में चार फीसदी कम बारिश हुई है। प्रदेश के लिए राहत भरी खबर ये है कि इस बार मानसून के दौरान कम बारिश (Rain)नहीं होगी। बता दें कि बीते वर्ष मानसून (Monsoon) के दौरान हिमाचल (Himachal) में करीब 30 फीसदी कम बारिश हुई थी। सितंबर के अंत में काफी कम बारिश दर्ज की गई थी। मौसम विभाग के अनुसार सीजन में इस बार अच्छी बारिश होगी। इसका लाभ प्रदेश के किसानों और बागवानों (Farmers and Gardeners) को होगा। बीते वर्ष कम बारिश के कारण मक्की के साथ दालों व सब्जियों का उत्पादन भी प्रभावित हुआ था। प्रदेश में केवल 30 फीसदी ही सिंचित क्षेत्र के तहत आता है, जबकि 70 फीसदी क्षेत्र असिंचित हैए इसलिए अधिकतर कृषि और बागवानी कार्य बारिश पर ही निर्भर हैं। प्रदेश की जीडीपी में कृषि व बागवानी का सात फीसदी तक योगदान हैए जिसमें सबसे अधिक पांच हजार करोड़ रुपये का बागवानी का योगदान है। बारिश बेहतर होने पर जीडीपी में योगदान और बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल में कोरोना हुआ कमजोर तो बढ़ने लगा ब्लैक फंगस, आईजीएमसी में दो नए मामले… 

मैदानों में आठ जून तक साफ रहेगा मौसम

वहीं मौसम विभाग ने हिमाचल के निचले व मैदानी भागों में आठ जून तक मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान लगाया है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला (Meteorological Center Shimla) के अनुसार प्रदेश के मध्य पर्वतीय भागों में दो से पांच जून तक बारिश व अंधड़ के आसार हैं। वहीं, कुछ उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में चार जून तक बारिश व हल्की बर्फबारी की संभावना है। इसके बाद इन क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। वहीं बुधवार को राजधानी शिमला (Shimla) व आसपास के क्षेत्रों में धूप खिलने के साथ हल्के बादल भी छाए हुए हैं। प्रदेश के कांगड़ा, मंडी, शिमला और सिरमौर जिले के कुछ भागों में बुधवार को अंधड़- आकाशीय बिजली का येलो अलर्ट (Yellow alert) भी जारी हुआ है। बता दें बीते दिनों से प्रदेश में बिगड़े मौसम से प्लम, चेरी, शकरपारा, खुमानी का तुड़ान रुक गया। ऊपरी शिमला में सोमवार को हुई ओलावृष्टि से सेब की फसल को कई जगह भारी नुकसान हुआ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है