Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

Kangra से मजदूरों को लेकर बिहार जा रही प्राइवेट बस Una में काबू, मोटा किराया भी वसूला

आरटीओ विभाग ने कोरोना कर्फ्यू तोड़ने पर की कार्रवाई,

Kangra से मजदूरों को लेकर बिहार जा रही प्राइवेट बस Una में काबू, मोटा किराया भी वसूला

- Advertisement -

ऊना। कोरोना काल में जहां एक ओर सरकार व प्रशासन महामारी से निपटने के लिए अनेक कदम उठा रहे है। वहीं दूसरे कुछ लोग प्रदेश में लगाए गए कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) का उल्लंघन करते हुए चांदी कूटने में लगे हुए हैं। कोरोना संकट की आड़ में प्रवासियों (Migrants) को लूटने का क्रम आज भी जारी है। ऐसा ही एक मामला बुधवार शाम सब्जी मंडी ऊना (Sabji Mandi Una) के पास देखने को मिला। जहां पर आरटीओ (RTO Una) विभाग ने कांगड़ा से बिहार जा रही एक प्राइवेट बस (RTO Una) को काबू किया। बस में जहां सभी सीटों पर सवारी थी, वहीं कोरोना कर्फ्यू की धज्जियां सरेआम उड़ाई जा रही थीं।

यह भी पढ़ें: मनमाने दाम वसूल रहे थे सब्जीवाले, पहुंच गई विभाग की टीम फिर जो हुआ पूछो मत

कांगड़ा से बिहार (Kangra to Bihar) जा रही प्रवासी मजदूरों से भरी एक बस को आरटीओ ऊना रमेश कटोच ने जिला मुख्यालय पर काबू किया है। 24 सीटर इस बस में प्रवासी मजदूरों को ले जाया जा रहा था। आरटीओ ऊना ने कोरोना कर्फ्यू का उलंघन करने के आरोप में कार्रवाई शुरू कर दी है। शुरूआती पूछताश में पता चला है कि प्रवासी मजदूरों को बिहार छोड़ने के लिए प्रति व्यक्ति 2 हजार रुपए किराया लिया गया है। बताया जा रहा है कि बस ऑपरेटर द्वारा विभाग से एक स्पेशल परमिट लेकर तीसरा चक्कर लगाया जा रहा था। आरटीओ ऊना रमेश कटोच ने बताया कि विभाग द्वारा इस मामले में उचित कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।


यह भी पढ़ें: HP Corona: आज 3 साल के बच्चे सहित 69 की गई जान, 3396 लोग पॉजिटिव; टॉप पर कांगड़ा

दरअसल आरटीओ विभाग को सूचना मिली थी कि एक प्राइवेट बस कांगड़ा से सवारियां लेकर बिहार जा रही है। इसके बाद बुधवार को विभाग ने सब्जी मंडी ऊना के समीप नाका लगाया और बस की चेकिंग के दौरान विभागीय टीम ने पाया कि 24 सीट की बस में पूरी सवारियां भरी हुई हैं। कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं है। परमिट दिखाने पर पता चला कि कांगड़ा प्रशासन द्वारा इस बस कुछ प्रवासियों को बिहार की अनुमति मिली थी, लेकिन इसी परमिट की आड़ में तीसरा चक्कर बिहार की ओर लगा रहा था और परमिट भी पुराना है। इसके लिए प्रवासियों से प्रति सवारी दो हजार रुपए लिए गए हैं। आरटीओ ऊना आरसी कटोच ने इस पूरे मामले में कार्रवाई की जा रही है और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट लगा होने के चलते मामला जिलाधीश ऊना राघव शर्मा को भेज दिया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है