Covid-19 Update

2,67,577
मामले (हिमाचल)
2, 53, 840
मरीज ठीक हुए
3961*
मौत
40,622,709
मामले (भारत)
366,912,057
मामले (दुनिया)

हिमाचलः एचआरटीसी के तकनीकी कर्मचारी हड़ताल पर, कल से दो घंटे ठप रखेंगे काम

समय पर बसों की मरम्मत न होने से रूट भी हो सकते हैं ठप, निगम की बढ़ेंगी मुश्किलें

हिमाचलः एचआरटीसी के तकनीकी कर्मचारी हड़ताल पर, कल से दो घंटे ठप रखेंगे काम

- Advertisement -

धर्मशाला। एचआरटीसी (Hrtc) का मर्ज और बढ़ने वाला है। पहले से ही पीसमील कर्मचारी (Piecemeal Workers) हड़ताल पर चले हुए हैं। इनकी जगह तकनीकी कर्मचारी (Technical staff) अपनी सेवाएं दे रहे थे, लेकिन अब तकनीकी कर्मचारियों ने भी एचआरटीसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इससे निगम की हालत और पतली हो जाएगी। आपको बताते चलें कि पीसमील कर्मचारियों की हड़ताल के कारण पहले ही एचआरटीसी का काम काफी ज्यादा प्रभावित हो रहा है। बसों की रिपेयरिंग का काम लगभग ठप हो गया है। ऐसे में तकनीकी कर्मचारियों के एचआरटीसी के खिलाफ मोर्चा खोलने से बसें ठीक न होने से रुट भी प्रभावित होंगे।

यह भी पढ़ें: एचआरटीसीः नियमितीकरण की मांग पर अड़े पीस मील कर्मी, 11वें दिन भी हड़ताल जारी

इससे सीधे तौर प्रदेश की जनता प्रभावित होगी। एचआरटीसी में कार्यरत्त तकनीकी कर्मचारी बुधवार से रोजाना दो घंटे हड़ताल पर रहेंगे। दोपहर बाद दो से शाम चार बजे तक तकनीकी कर्मचारी हड़ताल करेंगे। ऐसे में अब 30 मिल कर्मचारियों के बाद तकनीकी कर्मचारियों की हड़ताल का एचआरटीसी के कामकाज पर काफी असर पड़ने वाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि पीस मिल कर्मचारियों का काम अभी तक तकनीकी कर्मचारी देख रहे थे। ऐसे में अब इन कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से वर्कशॉप रिपेयरिंग का काम लगभग ठप हो जाएगा। तकनीकी कर्मचारी संगठन हिमाचल पथ परिवहन निगम के महासचिव पूर्णचंद शर्मा ( Puran Chand Sharma) ने बताया कि 29 नवंबर से एचआरटीसी के 950 कर्मचारी पीसमील से अनुबंध पर लाने के लिए नीति बनाने को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। इसके कारण एचआरटीसी की वर्कशॉप में बसों की मरम्मत व रखरखाव का अधिकांश कार्य इसी वर्ग पर निर्भर है। इन कर्मचारियों के आंदोलन पर चले जाने के कारण कर्मशाला के कार्य का सारा भार नियमित तकनीकी कर्मचारियों पर आ गया है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है