Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

एक तरफ झुकी हुई है इस शहर की इमारतें, आखिर क्या है इसके पीछे का राज

ब्राजील के सैंटोस में 1950 और 1960 के दशक के दौरान बनाए थे ये अपार्टमेंट

एक तरफ झुकी हुई है इस शहर की इमारतें, आखिर क्या है इसके पीछे का राज

- Advertisement -

हमारी ये दुनिया न जाने कितने आश्चर्यों से भरी हुई है। यहां पर रोज कुछ न कुछ नया देखने-सुनने को मिल जाता है। चलिए तो आज बात करते हैं घरों व इमारतों की। अमूमन घर व बिल्डिंग जमीन पर सीधे बनाए जाते हैं। लेकिन दुनिया में एक शहर ऐसा है, यहां पर घरों व इमारतों की बनावट ऐसी है कि सारी इमारतें एक तरफ को झुकी हुई हैं। यह शहर है ब्राजील ( Brazil ) में और इसका नाम है सैंटोस । इस शहर में इमारतों (Buildings) की बनावट कुछ ऐसी है, जिसे देखकर आप देख कर दंग रह जाएंगे। ये इमारतें पीसा की मीनार की तरह झुकी हुई हैं। आइए आपको दिखाते हैं इन इमारतों की तस्वीर और बताते हैं इसके पीछे की वजह।


यह भी पढ़ें:- ये हैं भारत का Most Dangerous Area : यहां दफन हैं कई इमारतों की कहानियां

सैंटोस शहर( Santos city)की इमारतें पीसा की मीनार की तरह झुकी हुई हैं। ये इमारतें पिछले काफी समय से ऐसी ही स्थिति में है और ये इमारतें और भी ज्यादा झुकती जा रही हैं। सैंटोस स्काइलाइन में करीब 651 इमारते हैं। हाल यह है कि कुछ इमारतें तो 5 इंच तक झुकी हैं इसलिए ज्यादा नहीं दिखती लेकिन कुछ इमारतें 2 मीटर तक झुकी हुई हैं, जो देखने पर साफ टेढ़ी नजर आती हैं।



दरअसल ये अपार्टमेंट 1950 और 1960 के दशक के दौरान बनाए गए थे। उस समय आर्किटेक्ट्स ( Architects) ने इन्हें बनाने के लिए सबसे सस्ता तरीका अपनाया था। लोगों के अनुसार खर्चा बचाने के लिए आर्किटेक्ट्स ने इन इमारतों की नींव गहरी नहीं बनाई। साथ ही इसमें कंक्रीट पैडिंग का इस्तेमाल किया गया। आपको बता दें कि कंक्रीट की पैडिंग ज्यादा गहरी नहीं होती है। ये जमीन में कुछ ही मीटर नीचे जाती है। आपको जान कर आश्चर्य होगा कि ये इमारतें रेत की 7 मीटर मोटी परत पर बनी हुई हैं, जो चिकनी मिट्टी पर है। इस वजह से समय के साथ ये इमारतें हर साल झुकती जा रही हैं।

ऐसा नहीं है कि इन इमारतों में कोई नहीं रहता। यहां पर लोग रहते हैं वे इस बात को लेकर परेशान नहीं है कि बिल्डिंग झुकी हुई है। वे इस बात से परेशान है कि इन अपार्टमेंट में बने घरों के दरवाजे और खिड़कियां ठीक तरह से बंद नहीं हो पाती हैं। इनकी जमीन भी समतल नहीं है। परेशानी की बात यब भी है कि सैंटोस शहर के स्थानीय प्रशासन ने इन इमारतों को सुधारने के लिए कोई भी कदम नहीं उठाया जा रहा है, उनका कहना है कि ये इमारतें पूरी तरह सुरक्षित हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है