Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

तमिलनाडु स्कूल : पेपर में छात्रों से पूछा गणतंत्र दिवस हिंसा पर सवाल, हो गया विवाद

सवाल में प्रदर्शनकारियों को कहा गया उन्मादी हिंसक

तमिलनाडु स्कूल : पेपर में छात्रों से पूछा गणतंत्र दिवस हिंसा पर सवाल, हो गया विवाद

- Advertisement -

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के स्कूल के प्रश्नपत्र पर विवाद (Chennai School Exam Controversy) हो गया है। दरअसल स्कूल ने 10वीं के प्रश्नपत्र (Question Paper) में एक सवाल पूछा था। इसमें एक पत्र अखबार के संपादक (Letter to the Editor) को लिखने के लिए कहा गया था। यहां तक तो सब ठीक है, लेकिन जिस बात पर विवाद (Controversy) हुआ है वो यह है कि इसमें जिस विषय पर संपादक को पत्र लिखने के लिए कहा गया था वह दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा (Republic Day Violence)को लेकर था। इसमें प्रदर्शनकारी किसानों के लिए ‘हिंसक उन्मादी’ शब्द इस्तेमाल किया गया है। जानकारी के अनुसार जिस स्कूल के प्रश्नपत्र को लेकर विवाद हुआ है वो चेन्नई का एक प्रतिष्ठित स्कूल है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली हाई कोर्ट में अब वीडियो के जरिए नहीं होगी सुनवाई, सभी बेंच फिजिकली बैठेंगी

प्रश्नपत्र में छात्रों से अखबार के संपादक को पत्र लिखने और ऐसे हिंसक कृत्यों की निंदा करते हुए हिंसक उन्माद को विफल करने के लिए उपाय सुझाने के कहा गया था। जानकारी के अनुसार जिस प्रश्नपत्र को लेकर विवाद हुआ हो वो प्रश्न 11 फरवरी को आयोजित अंग्रेजी भाषा और साहित्य के पेपर का हिस्सा था। अब इस सवाल को लेकर काफी विवाद हो रहा है। दरअसल, जो पूरा सवाल छात्रों से पूछा गया है वो इस प्रकार से है।

यह भी पढ़ें: ट्रेनिंग पर बुलाए युवा पंचायत प्रतिनिधि, पर ट्रेनिंग करवाने वाले अधिकारी रहे नदारद

गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी में हुई हिंसा ने नागरिकों के दिलों को उस समय धिक्कार और घृणा से भर दिया, जब कृषि कानूनों के प्रदर्शनकारियों ने सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट करने और दिन के उजाले में पुलिस कर्मियों पर हमला किया। अपने शहर के एक दैनिक समाचार पत्र के संपादक को एक पत्र लिखें- बदमाशों के ऐसे भयानक, हिंसक कृत्यों की निंदा करें जो यह महसूस करने में विफल होते हैं कि देश व्यक्तिगत जरूरतों और लाभ से पहले आता है। सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट करना, राष्ट्रीय ध्वज को अपमानित करना, और पुलिस कर्मियों पर हमला करना कुछ ऐसे विभिन्न अवैध अपराध हैं, जिन्हें किसी भी कारण से कभी भी उचित नहीं ठहराया जा सकता है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है