Covid-19 Update

1,37,766
मामले (हिमाचल)
1,02,285
मरीज ठीक हुए
1965
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

Jai Ram बोले-प्रवासी मजदूरों को ना हो असुविधा, उठाए जाने चाहिए उचित कदम

सीएम ने वर्चुअल माध्यम से शहरी स्थानीय निकायों के सदस्यों से बैठक की

Jai Ram बोले-प्रवासी मजदूरों को ना हो असुविधा, उठाए जाने चाहिए उचित कदम

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने शहरी स्थानीय निकायों के चयनित प्रतिनिधियों से संबंधित क्षेत्रों में कोविड-19 (Covid-19) के कारण होम आइसोलेशन (Home Isolation) में रखे गए मरीजों के परिवारों के साथ निरंतर संपर्क में रहने का आग्रह किया है, ताकि उन्हें किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े और उचित परामर्श के साथ-साथ उपचार की सुविधा भी मिल सके। वह आज शिमला (Shimla) से वर्चुअल माध्यम से शहरी स्थानीय निकायों के सदस्यों को प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। सीएम ने कहा कि इस महामारी के प्रसार को फैलने से रोकने और संकट में फंसे लोगों की सहायता करने में लोगों में जो उत्साह पिछले वर्ष देखा गया था वह इस बार कम देखने का मिल रहा है। उन्होंने शहरी निकायों के चयनित प्रतिनिधियों से संकट के समय में जरूरतमंदों की सहायता करने के लिए आगे आने को कहा। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए कि प्रवासी मजदूरों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पड़े और उन्हें प्रदेश में ही रूकने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए।


यह भी पढ़ें: Himachal : सीएम जयराम और कैबिनेट मंत्री कोविड फंड में देंगे एक माह का वेतन
लोगों को टीकाकरण के लिए करें प्रेरित

जयराम ठाकुर ने जन प्रतिनिधियों से लोगों को टीकाकरण के लिए आगे आने के लिए प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि वृद्धजन और दिव्यांगों को टीकाकरण केंद्रों तक पहुंचने में सहायता प्रदान की जानी चाहिए, ताकि उन्हें कोविड-19 की खुराक समय पर दी जा सके। चयनित प्रतिनिधियों को संबंधित क्षेत्र के लोगों को टीकाकरण से जुड़ी भ्रांतियों के बारे में शिक्षित करना चाहिए और गरीब और जरूरतमंदों को फेस मास्क (Face Mask), हैंड सैनिटाइजर (Hand sanitizer) और फूड किट्स वितरित करने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि संक्रमण से सफाई कर्मचारियों का बचाव सुनिश्चित करने के लिए उचित सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाने जाने चाहिए। सीएम ने कहा कि राज्य के औद्योगिक क्षेत्रों में बेहतर निगरानी सुनिश्चित करने के लिए उचित कदम उठाए जाने चाहिए, ताकि प्रवासी मजदूरों को संक्रमण से बचाया जा सके। शहरों और नगर निगमों की नियमित सैनिटाइजेशन करने के अलावा यह भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए सामाजिक कार्यक्रमों में 50 से अधिक लोग शामिल ना हों। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को कोविड-19 संक्रमित मरीजों की जानकारी पार्षदों को उपलब्ध करवाने को कहा, ताकि वे संक्रमितों के परिवारों से संपर्क कर सकें और अपने स्तर पर संबंधित क्षेत्रों के कोविड-19 मरीजों पर निगरानी रख सकें।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में आज से बंदिशेंः शादी व अंतिम संस्कारों में केवल 50 लोग ही होंगे शामिल

दो महीनों में ही 250 लोगों की मृत्यु

जयराम ठाकुर ने कहा कि सभी चयनित प्रतिनिधियों का कर्तव्य है कि वे अपने क्षेत्र के लोगों की भलाई और स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं पर ध्यान दें। इस बार कोरोना (Corona) महामारी ना केवल अधिक तीव्र गति से फैल रही है बल्कि और अधिक जानलेवा बन गई है। उन्होंने कहा कि पिछले दो महीनों में कोविड के मामलों और मृत्यु दर में तीव्र वृद्धि हुई है। केवल पिछले दो महीनों में ही 250 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई है। प्रदेश सरकार ने इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कुछ कठोर निर्णय भी लिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश के सभी बड़े मंदिरों (Temples) में श्रद्धालुओं के आने पर रोक लगा दी है और आज से इन मंदिरों में केवल पूजा-अर्चना की अनुमति होगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने शनिवार और रविवार को सभी कार्यालयों को बंद रखने की घोषणा की है। बसें 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलेंगी और सभी धार्मिक, सामाजिक और अन्य समारोहों में केवल 50 लोगों की उपस्थिति की अनुमति होगी। उन्होंने कहा कि सभी चयनित प्रतिनिधियों का कर्तव्य है कि वे सरकार द्वारा समय-समय पर जारी की गई मानक संचालन प्रक्रियाओं (Standard Operating Procedures) और दिशा-निर्देशों का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें: CM जयराम ने अधिकारियों को किसानों को सुविधा प्रदान करने के लिए उचित कदम उठाने के दिए निर्देश

सीएम ने कहा कि सरकार नगर निगमों को इस महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक सहयोग प्रदान करेगी। प्रदेश सरकार ने नगर निगमों को सूचना, शिक्षा और प्रचार (आईसीई) सामग्री उपलब्ध करवाएगी, ताकि इस सामग्री को लोगों को वायरस को रोकने के लिए शिक्षित करने और साथ ही लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने में उपयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि शहरी स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों को कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों को काढ़ा, च्यवनप्राश, फल और अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध करवानी चाहिए। यह ना केवल उनकी सहायता करेगा, बल्कि इस वायरस (Virus) से प्रभावशाली तरीके से लड़ने के लिए उनके भीतर आत्मविश्वास भी पैदा करेगा। शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज (Urban Development Minister Suresh Bhardwaj) ने कहा कि सभी शहरी स्थानीय निकायों के प्रतिनिधि होम आइसोलेशन में रखे गए लोगों की सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। प्रधान सचिव रजनीश ने कहा कि सभी शहरी स्थानीय निकायों के नवनिर्वाचित प्रतिनिधि इस वर्चुअल बैठक में उपस्थित हुए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है