Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

पंचतत्व में विलीन हुए हिमाचल के “राजा” वीरभद्र सिंह, जयराम सहित हजारों ने दी अंतिम विदाई

जोबनी बाग के श्मशानघाट में विक्रमादित्य सिंह ने पार्थिव देह को दी मुखाग्नि

पंचतत्व में विलीन हुए हिमाचल के “राजा” वीरभद्र सिंह, जयराम सहित हजारों ने दी अंतिम विदाई

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) पंचतत्व में विलीन हो गए हैं। वीरभद्र सिंह की अंतमि यात्रा में जनसैलाब उमड़ा। लोकवाद्य यंत्रों की धुनों के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई। शवयात्रा में प्रदेश भर से बीस हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए। रामपुर के जोबनी बाग में शाही सम्मान के साथ उनका दाह संस्कार किया गया। इस दौरान उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह ने करीब साढ़े चार बजे उनकी पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। उद्घोघोषों के बीच उनका पूरे राजकीय सम्मान और राजसी परम्परा के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस तरह वीरभद्र सिंह अपनी अनंत यात्रा पर निकल गए। इससे पहले करीब पौने तीन बजे उनकी पार्थिव देह को पदम पैलेस (Padam Palace) से जोबनी बाग के श्मशानघाट तक लाया गया। पिता के शव को विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने खुद कंधा दिया। पूरे रास्ते में लोग मकान की छतों से उन्हें पुष्पवर्षा करते दिखाई दिए। हजारों की संख्या में भावुक लोगों ने नम आंखों से अपने प्रिय नेता को अंतिम बार देखा और अश्रुपूर्ण विदाई दी।

यह भी पढ़ें: अनंत यात्रा पर निकले हिमाचल के हरदिल अजीज नेता, अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा हुजूम


 

इस दौरान जोगनी बाग में श्मशाघाट में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) समेत कई नेता मौजूद रहे। वीरभद्र सिंह का अंतिम संस्कार (Funeral) चंदन, शूर (स्‍थानीय चंदन) और सामान्य लकड़ी से किया गया। वहीं इस दौरान करीब 25 किलोग्राम देसी घी और कई किलोग्राम मेवे का भी प्रयोग किया गया। जोगनी बाग में राज परिवार के लिए अलग से ही स्थान निर्धारित किया गया है। जहां पर केवल राज परिवार के लोगों का ही अंतिम संस्कार किया जाता है। इस पूरे विधि विधान को राज परिवार से जुड़े स्थानीय पंडितों द्वारा पूरा करवाया गया।

खास बमान में हुए विदा

बता दंे कि वीरभद्र सिंह के शव पर तिरंगा लगाया गया था। एक खास तरह के बमान में उनका शव पदम पैलेस से श्मशानघाट तक पहुंचाया गया। शेरों के 12 मुखी इस बमान को बनाने में कारीगरों को दो दिन का वक्त लगा। वीरभद्र सिंह का जोबनी बाग श्मशानघाट में अंतिम संस्कार (cremated) किया गया। यह केवल शाही खानदान के लिए बनाया गया श्मशानघाट है। यहां पर वीरभद्र सिंह के पुर्वूजों का भी अंतिम संस्कार किया गया है। वीरभद्र सिंह की माता.पिता और रानियों के स्मारक भी यहां बनाए गए हैं।

 

कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं विशेष चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल जिसमें छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष पवन बंसल, अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य सासंदआनंद शर्मा,प्रदेश मामलों के प्रभारी राजीव शुक्ला ने दिवंगत नेता के अंतिम संस्कार में शामिल होकर कांग्रेस पार्टी की ओर से श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

 

इस दौरान उनके साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव प्रभारी संजय दत्त ने भी अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। प्रदेश कांग्रेस नेताओं कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर,नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सहित कांग्रेस पार्टी के विधायक, पूर्व विधायक, पार्टी पदाधिकारी व हजारों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं व अन्य लोगों ने अपने प्रिय नेता वीरभद्र सिंह के अंतिम संस्कार में उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने भी पदम पैलेस में उनके अंतिम दर्शन किए, बता दें कि हिमाचल में वीरभद्र सिंह से निधन पर 10 जुलाई तक राजकीय शोक घोषित किया गया है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है