Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,392,486
मामले (भारत)
228,078,110
मामले (दुनिया)

किन्नौर: बास्पा नदी पर 20 दिन में बनेगा नया वैली ब्रिज, छितकुल व रक्षम में फंसे पर्यटक निकाले

पर्यटकों को निकालने के बाद पीडब्ल्यूडी ने अगले आदेशों तक बंद की सड़क

किन्नौर: बास्पा नदी पर 20 दिन में बनेगा नया वैली ब्रिज, छितकुल व रक्षम में फंसे पर्यटक निकाले

- Advertisement -

शिमला। किन्नौर (Kinnaur) जिले में हुए भारी भूस्खलन (Landslide) के बाद बंद हुए सांगला. छितकुल मार्ग को पीडब्ल्यूडी ने आज वाहनों के लिए बहाल कर दिया। सड़क मार्ग के खुलने के बाद छितकुल व रक्षम गांव में फंसे पर्यटकों (Tourist) व आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति करने वाली गाड़ियों को सुरक्षित करछम की ओर भेजा गया। हालांकि यह मार्ग बाद में दोबारा से बंद कर दिया गया है। यह जानकारी डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने दी। उन्होंने बताया कि यह मार्ग दो दिन बाद बहाल हुआ है। बटसेरी छीतकुल सड़क मार्ग-पहाडियों से चट्टान गिरने से 25 जुलाई को बंद हो गया था। बता दें कि बटसेरी गांव के समीप हुए भूस्खलन से बंद सांगला- छितकुल सड़क को पीडब्ल्यूडी (PWD) ने मंगलवार शाम को इमरजेंसी में खोला और फंसे हुए पर्यटकों सहित आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति करने वाली गाड़ियों को सुरक्षित निकाला गया। पर्यटकों और अन्य गाड़ियों को निकालने के बाद इस मार्ग को जेसीबी की मदद से सड़क को दोनों तरफ भारी पत्थरों रखकर इसे आगामी आदेशों तक के लिए बंद कर दिया है।सांगला-छितकुल मार्ग पर बटसेरी में पहाड़ी से गिरीं चट्टानों से नौ पर्यटकों की मौत के बाद स्थानीय प्रशासन किसी तरह का  जोखिम नहीं उठाना चाहता। फैसला लिया गया है कि पहले भू वैज्ञानिक पहाड़ी से गिर रहीं चट्टानों की वजह तलाशेंगे। बुधवार से गुंसा की पहाड़ी पर जियोलॉजी सर्वे ऑफ इंडिया की टीम सर्वे शुरू कर देगी। सर्वे की रिपोर्ट सरकार को सौंपी जाएगी। उसके बाद ही तय किया जाएगा कि सांगला.छितकुल मार्ग को अभी बहाल करना है या नहीं। इस मार्ग पर लोगों की आवाजाही पर फिलहाल रोक लगाई गई है।

यह भी पढ़ें: रानीताल सड़क हादसा: बाथू पुल के नीचे एक साथ जली मां-बेटे की चिताएं

 

 

वहीं किन्नौर जिले में सांगला. छितकुल मार्ग पर बास्पा नदी (Baspa River) पर 20 दिन में नया वैली ब्रिज (Valley Bridge) तैयार होगा। राज्य सरकार ने इस संबंध में लोक निर्माण विभाग को आदेश जारी किया है। इसके अलावा इसी नदी पर अलग से झूला पुल का भी निर्माण किया जाएगा। वैली ब्रिज का निर्माण विभाग का मेकेनिकल विंग (Mechanical wing) करेगा। इसके लिए सामग्री ढली से मंगवाई जा रही है। रविवार को पहाड़ी दरकने से मार्ग पर पुल ढह गया था। इसके साथ ही 400 मीटर दूर पर फुट ब्रिज भी है, जिससे फंसे पर्यटकों को निकाला जा रहा है। जो पुल टूटा वह 11 साल पुराना था। वहीं लोक निर्माण विभाग के प्रधान सचिव सुभाषीश पांडा ने बताया कि 20 दिन में वैली ब्रिज का निर्माण पूरा हो जाएगा। राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिए हैं।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है