Covid-19 Update

2, 85, 044
मामले (हिमाचल)
2, 80, 865
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,148,500
मामले (भारत)
531,112,840
मामले (दुनिया)

हिमाचल पुलिस का कारनामा, कार का चालान काट कर समन स्कूटी सवार को भेजे

स्कूटी सवार बुजुर्ग ने एसपी शिमला से की शिकायत, वापस मांगे अपने पैसे

हिमाचल पुलिस का कारनामा, कार का चालान काट कर समन स्कूटी सवार को भेजे

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल पुलिस (Himachal Police) का एक अजीबोगरीब कारनामा सामने आया है। पुलिस ने सड़क पर एक कार का नो पार्किंग का चालान (Challan) काटा। कार मालिक ने चालान नहीं भरा जिसके चलते इसके समन जारी किए गए। लेकिन हैरानी की बात यह है कि यह समन कार मालिक को ना भेज कर एक स्कूटी मालिक बुजुर्ग को भेज दिए गए। हालांकि स्कूटी के मालिक बुजुर्ग ने यह चालान भर दिया, लेकिन उन्होंने इसकी शिकायत एसपी शिमला से की है। मामला राजधानी शिमला से सामने आया है।

यह भी पढ़ें:हिमाचलः सीएम जयराम का पुतला फूंकने पर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज

बुजुर्ग अवतार सिंह मल्लाह ने अपनी शिकायत (Complaint) में कहा है कि मैं 74 वर्ष की उम्र का एक वरिष्ठ नागरिक हूं। मुझे मेरी स्कूटी का 1000 रुपए का चालान मिला। मैंने एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते तुरंत कोर्ट में इस चालान की राशि जमा करवा दी। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने ई चालान से प्रिंट आउट लिया तो पता चला कि यह चालान (Challan) मेरी स्कूटी नंबर HP52A-8382 के बजाय कार नंबर HP52A-8332 का था। उन्होंने कहा कि मुझे हैरानी इस बात की हो रही है कि कई दिनों से घर के अंदर पार्क की गई इस स्कूटी का नो पार्किंग का चालान कैसे हो गया। दरअसलए पुलिस की ओर से जब चालान काटा गया तो उस समय गाड़ी के नंबर के कन्फ्यूजन के कारण गलती से स्कूटी का नंबर चालान में पड़ गया।

यह भी पढ़ें:सीएम जयराम बोले- हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं

यह चालान चौड़ा मैदान में बीते 14 अक्टूबर, 2021 को एक कार का हुआ था। जिसका नंबर HP52A-8332 था। पुलिसकर्मी ने गलती से चालान बुक पर HP52A-8382 नंबर लिख दिया। इसके बाद चालान ऑनलाइन हो गया। चालान समय पर जमा ना होने के कारण यह कोर्ट पहुंच गया और बीते 4 मई को कोर्ट से इसका समन जारी हुआ। जारी किया गया यह समन स्कूटी मालिक (Scooty Owner) अवतार सिंह मल्लाह को मिला। समन को देख कर वो हैरान हो गए, इसके बावजूद भी उन्होंने 1000 रुपए की राशि को कोर्ट में जमा करवा दी और साथ ही इसकी शिकायत एसपी शिमला से की है। उन्होंने अपनी एक हजार की राशि वापस मांगी है। वहीं, इस बारे में एसपी शिमला (SP Shimla) मोनिका भंटुगरू का कहना है कि यह मामला उनके ध्यान में नहीं है। जल्द ही मामले की जानकारी ली जाएगी और आगामी जांच की जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है