Covid-19 Update

2, 85, 010
मामले (हिमाचल)
2, 80, 811
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,715,878
मामले (दुनिया)

हिमाचल: पर्यटकों की पहली पसंद ट्रैकिंग स्‍थल त्रियुंड में वन विभाग ने 16 टेंट किए सीज

अवैध रूप से टैंट लगाने की शिकायत मिलने के बाद की कार्रवाई

हिमाचल: पर्यटकों की पहली पसंद ट्रैकिंग स्‍थल त्रियुंड में वन विभाग ने 16 टेंट किए सीज

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल में गर्मी बढ़ते ही पर्यटक (Tourist) अब पहाड़ों का रूख करने लगे हैं। कुछ पर्यटक ट्रैकिंग स्थलों का भी चुनाव कर रहे हैं। ऐसे में पर्यटकों की बढ़ती आमद देख टैंट ऑपरेटर ज्यादा पैसों के लालच में वन विभाग (Forest Department) के कानूनों को तोड़ने से परहेज नहीं कर रहे हैं। ऐसे आपरेटरों पर वन विभाग की टीम ने सख्त कार्रवाई की है। हिमाचल के प्रसिद्ध ट्रैकिंग स्थल त्रियुंड में वन विभाग ने अवैध रूप से टैंट लगाने वाले लोगों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब 16 टैंट सीज (16 Tent Seized) किए हैं। विभाग ने ट्रैकिंग स्थल का निरीक्षण किया व अवहेलना कर लगाए गए 16 टैंट सीज किए। साथ ही निमयों के अनुसार आगामी कार्रवाई भी अमल में लाई जा रही है।

यह भी पढ़ें:कांगड़ा में पैराग्लाइडिंग पर रोक, आदेशों की अवहेलना करने पर ब्लैक लिस्ट होंगे पायलट

बताया जा रहा है कि त्रियुंड में वन विभाग की ओर से पंजीकृत ऑपरेटर को चिन्हित भूमि पर टैंट लगाने की अनुमित प्रदान की गई है, लेकिन कुछ ऑपरेटर नियमों को दरकिनार कर प्रतिबंधित स्थानों पर भी टैंट लगाकर कमाई कर रहे थे। त्रियुंड (Triund) में इस तरह की शिकायतें मिलने के बाद विभाग की टीम ने ट्रैकिंग स्थल का निरीक्षण किया तो नियमों की अवहेलना कर लगाए गए दो तीन ऑपरेटर के 16 टैंट सीज किए हैं। अन्य टैंट संचालकों को भी नियमों के तहत और चिन्हित भूमि पर ही टैंट लगाने के लिए आदेश दिए हैं।

यह बोले डीएफओ डॉ. संजीव शर्मा

धर्मशाला वन मंडल(Dharamshala Forest Division) के डीएफओ डाक्‍टर संजीव शर्मा ने बताया त्रियुंड में नियमों के विपरीत कुछ ऑपरेटर द्वारा टेंट लगाने की सूचना मिली थी, विभाग की टीम को मौके पर भेजा गया था तथा टीम को नियमों की अवहेलना करने वाले ऑपरेटरों के 16 टेंट सीज किए हैं। नियमानुसार आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। इस तरह से अवैध रूप से किसी को भी वन भूमि पर टैंट स्थापित करने की इजाजत नहीं है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है