Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,440,951
मामले (भारत)
195,407,759
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल के होटल कारोबारी पर्यटकों के स्वागत को तैयार, अगले दो माह फुल ऑक्यूपेंसी की उम्मीद

गर्मी से बेहाल पर्यटक करेंगे पहाड़ों का रूख, आरटीपीसीआर टेस्ट में रियायत का मिलेगा फायदा

हिमाचल के होटल कारोबारी पर्यटकों के स्वागत को तैयार, अगले दो माह फुल ऑक्यूपेंसी की उम्मीद

- Advertisement -

शिमला/धर्मशाला। हिमाचल में कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा होटल कारोबार (Hotel Business) को नुकसान पहुंचाया है। होटल कारोबार काफी समय से पटरी पर नहीं लौट पाया है। हालांकि कोरोना की पहली लहर के बाद जब सब कुछ सामान्य हो गया था, तब भी इस वर्ग को कुछ खास राहत नहीं मिल पाई थी। लेकिन अब होटल कारोबार से जुड़े लोगों को उनके दिन बदलने की उम्मीद जगी है। कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) की बंदिशें हटने से हिमाचल में पर्यटन सीजन के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद जगी है। होटलों में एडवांस बुकिंग शुरू हो गई है। निगेटिव रिपोर्ट की बंदिश हटते ही सैलानी पहाड़ों का रुख करने लगे हैं।

यह भी पढ़ें: पर्यटकों के लिए कल से खुलेगा विश्व प्रसिद्ध रोहतांग दर्रा, बर्फीली वादियां कर रही इंतजार

हिमाचल में बाहरी राज्यों से आने वालों के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट (Corona Test Report) की अनिवार्यता खत्म करने के बाद अब प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में इजाफा होने की उम्मीद है। वहीं होटल कारोबारी भी मेहमानों के स्वागत को तैयार हो गए हैं। बस अब उन्हें इंतजार है तो मेहमानों के आने का। राजधानी शिमला (Shimla) में बीते रोज ही सौ के करीब होटल खुल गए हैं जबकि 250 होटल सोमवार को खुलेंगे। डलहौजी में सोमवार से 140 होटलों के ताले खुलेंगे। कुल्लू और मनाली में 1200 से 1500 और चायल के 50 होटलों के दरवाजे सैलानियों के लिए खुल जाएंगे। कांगड़ा में भी सोमवार से होटल खोलने की तैयारी है। यहां करीब एक हजार होटल हैं।


यह भी पढ़ें: कल से पूरी तरह खुलेंगे बाजार व मॉल, कुछ पर पाबंदियां जारी, यहां पढ़े पूरी खबर

 

होटल के साथ इन्हें भी होगा फायदा

चाहे हिमाचल पर्यटन निगम (Himachal Tourism Corporation) के होटल हो या स्थानीय निजी होटल, सभी मेहमानों के लिए तैयार हो गए हैं। बीते दो साल से प्रदेश भर के होटल व्यवसायी मंदी का दौर झेल रहे हैं। ऊपर के कोरोना महामारी ने व्यवसाय को चौपट करके रख दिया है। बता दें कि सरकार ने 14 जून से होटल खोलने का फैसला लिया है। होटल कारोबारियों को उम्मीद है कि लंबे समय से गर्मी से बेहाल पर्यटक पहाड़ का रुख करेंगे। पर्यटक कोरोना महामारी के कारण घरों से नहीं निकल पा रहे थे, अब हिमाचल सरकार (Himachal Govt) की ओर से आरटीपीसीआर टेस्ट में रियायत देने से होटल कारोबारियों को लाभ होगा। पर्यटक यहां पहुंचेंगे तो होटल के साथ-साथ रेस्टोरेंट, टैक्सी का भी काम निकलेगा। होटल कारोबारियों को जून जुलाई अगस्त में फुल ऑक्यूपेंसी की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कल से क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद, एक क्लिक पर जाने पूरी डिटेल

पर्यटन निगम कांगड़ा के एजीएम केडी वर्मा के अनुसार पर्यटन निगम पूरी तरह से तैयार है। धीरे धीरे पर्यटकों की आमद बढ़ जाएगी फुल ऑक्यूपेंसी की उम्मीद है। वहीं होटल एसोसिएशन के अध्‍यक्ष अश्वनी बांबा ने बताया कि आरटीपीसीआर (RTPCR) की नेगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म करने से उम्मीद है कि होटल व्यवसाय को लाभ होगा। पर्यटक मैक्लोडगंज व धर्मशाला सहित कुल्लू मनाली (Manali) का रूख करेंगे। वहीं मनाली में भी बीआरओ ने रोहतांग दर्रा पर्यटकों के लिए बहाल कर दिया है। जिसका लाभ भी प्रदेश के पर्यटन कारोबार को मिलेगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है