Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

सभी को लगे टीका, 24 घंटों में आए टेस्टिंग रिपोर्ट, ये कहते धरने पर बैठ गए कुलदीप राठौर-Video

बोले, सरकार का इस महामारी से निपटने के इंतजाम ठीक नहीं

सभी को लगे टीका, 24 घंटों में आए टेस्टिंग रिपोर्ट, ये कहते धरने पर बैठ गए कुलदीप राठौर-Video

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों और ग्रामीण इलाकों में टेस्टिंग ( Testing) बढ़ाए जाने की मांग के लेकर कांग्रेस ने आज धरना दिया। सोशल डिस्टेंसिंग ( Social Distancing) का पालन करते हुए रिज पर महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे धरने पर बैठे हिमाचल कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ( Himachal Congress President Kuldeep Singh Rathore) ने कहा कि कांग्रेस ऐसे हालत में धरना नहीं करना चाहती थी लेकिन सरकार नाकामियों के चलते यह सब करना पड़ा। कांग्रेस सरकार से टेंसिंग बढ़ाए जाने की मांग कर रही है, इतना ही नहीं टेस्टिंग की रिपोर्ट ( Testing report) भी 24 घंटों में आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना भयावह रूप धारण कर रहा है। लेकिन सरकार के इस महामारी से निपटने के इंतजाम ठीक नहीं है। साथ ही दूसरा टीका लगाने की अवधि भी बढ़ा दी है। आज सरकार ये निर्णय लेती है कल कोई दूसरा। प्रदेश में कोरोना से जिस तरह से मौतें हो रही है। कांग्रेस ने शुरू से सख्ती बरतने को कहा था। सरकार के आदेशों में जो विसंगतियां हैं उनको कांग्रेस बार-बार बता चुकी हैं। राठौर ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू से कुछ हासिल नहीं होगा, प्रदेश सरकार को सख्त फैसले लेने होगे।

यह भी पढ़ें: राठौर बोले-BJP की ध्रुवीकरण की नीति से देश की एकता और अखंडता को खतरा

कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि गांवों में मेडिकल सुविधाएं नहीं है। टेस्टिंग तक की सुविधा भी नहीं है। टेस्ट की रिपोर्ट एक सप्ताह बाद आती है तक तक लोग कई और को संक्रमित कर चुके होते हैं। हालिंकि सरकार ने आज 36 घंटे में रिपोर्ट आने की बात कही है पर ये कितनी सही साबित होती है देखना बाकि है। इसके अलावा केंद्र ने जो दवाओं आदि की मदद की है उसे सार्वजनिक किया जाना चाहिए। प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। इसका श्रेय वीरभद्र सरकार को जाता है। उनके कार्यकाल में ऑक्सीजन प्लांट ( Oxygen plant) लगा था। हालांकि ऑक्सीजन पर केंद्र का भी नियंत्रण रहता है। वैक्सीनेशन( Vaccination) को लेकर सरकार गंभीर नहीं है। देश के अन्य राज्यों में जब पहली मई से 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन लगनी शुरू हुई पर हिमाचल में ये काम 17 मई से हुआ। ऐसा लग रहा है कि केंद्र के पस दवाओं की कमी हैऔर अब तो दूसरी डोज लेने की अवधि को भी बढ़ा दिया है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है